मौसम ने बदली करवट, किन्नौर के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हिमपात

जनजातीय जिला किन्नौर में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने के कारण मौसम ने करवट बदल दी है। जिले के ऊंचाई वाले इलाकों में हल्की बर्फबारी व निचले क्षेत्रों में देर रात से लगातार बारिश का दौर जारी रहा व वीरवार दोपहर तक ऊंचाई वाले इलाकों में हल्की बर्फबारी व मध्यम और निचले इलाकों में बारिश का सिलसिला जारी रहा।

जिले के ऊंचाई वाले इलाकों में 4 से 6 इंच तक बर्फबारी दर्ज हुई है व तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई है। मौसम में अचानक बदलाव होने से मई माह में भी दिसम्बर माह की सर्दी का एहसास हो रहा है और लोग गर्म कपड़े पहनने को मजबूर हो गए हैं। लगातार हो रही बारिश-बर्फबारी के चलते जिले के कुछ क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति भी बाधित हुई है।

पागल नाले में मलबा आने से एनएच अवरुद्ध

खारो पुल, भगत नाला सहित ककस्थल के समीप पर पागल नाले में भारी मात्रा में मलबा आने से एनएच वीरवार सुबह ही अवरुद्ध हो गया था। सड़क मार्ग पर मलबा आने से एक वाहन भी मलबे की चपेट में आ गया था, जिससे वाहन को नुक्सान भी पहुंचा है। पागल नाले में मलबा आने से अवरुद्ध हुए एनएच को दोपहर तक सड़क मार्ग को एनएच प्राधिकरण द्वारा वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया गया है

जबकि भगत नाला व खारो के पास पहाड़ी से पत्थरों के गिरने से एनएच अभी भी अवरुद्ध है, जिसकी देर रात तक बहाल होने की संभावना है। वहीं जिला के पूह तथा भावानगर में विद्युत आपूर्ति भी बाधित हुई है, जिसे विभाग द्वारा बहाल करने के लिए कार्य किया जा रहा है। वहीं प्रशासन द्वारा मौसम के बिगड़ते मिजाज को देखते हुए जारी एडवाइजरी में जिला की जनता को अनावश्यक घरों से बाहर न निकलने की सलाह दी गई है।

Author: बोलता हिमाचल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *