Latest Posts

मौसम: हिमाचल में तीन दिन भारी बारिश का अलर्ट, मानसून के रफ्तार पकड़ने की उम्मीद

हिमाचल प्रदेश में तीन दिन भारी से बहुत भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। प्रदेश में 30 जून तक मौसम खराब रहने का पूर्वानुमान है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने प्रदेश के मैदानी व मध्य पर्वतीय भागों में 26 से 28 जुलाई तक भारी से बहुत भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। जबकि 25 जुलाई के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। विभाग ने ऊना, बिलासपुर, हमीरपुर, चंबा, कांगड़ा, कुल्लू, मंडी, शिमला, सोलन और सिरमौर जिले के लिए भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

पूर्वानुमान के अनुसार हिमाचल प्रदेश में पिछले 2-3 दिनों के दौरान मानसून की स्थिति कमजोर बनी रही। अब 26 से मानसून के फिर से रफ्तार पकड़ने की उम्मीद है।  उधर, शनिवार को शिमला समेत प्रदेश के अन्य भागों में दिन में मौसम साफ रहा। शिमला में हल्के बादल भी छाए रहे। दोपहर बाद धर्मशाला, नगरोटा सूरिया और जसूर में तेज शुरू हुई। बारिश के बाद तापमान में गिरावट से लोगों ने राहत की सांस ली है। धान और मक्की की फसल के लिए कृषि विभाग के विशेषज्ञों ने यह बारिश लाभदायक बताई है।

कहां कितना अधिकतम तापमान

शनिवार को ऊना में अधिकतम तापमान 33.0, बिलासपुर 34.0, सुंदरनगर 32.1, हमीरपुर 33.6, कांगड़ा 32.8, चंबा 31.6, सोलन 30.2, नाहन 30.2, धर्मशाला 24.8, शिमला 24.6, कल्पा 23.2, केलांग 25.2 और डलहौजी में 21.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ।  शिमला में न्यूनतम तापमान 17.0, सुंदरनगर 22.4, भुंतर 22.1, कल्पा 15.4, धर्मशाला 20.4, ऊना 25.7, नाहन 24.7, केलांग 12.7, पालमपुर 21.0, सोलन 20.7, मनाली 18.0, कांगड़ा 24.6, मंडी 22.0, बिलासपुर 25.0, हमीरपुर 24.8, चंबा 21.5, डलहौजी 17.4 और कुफरी में 15.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया है।

आनी में बादल फटने से भारी नुकसान

उधर, आनी खंड की बुछैर पंचायत के खादवी और तराला गांव में शनिवार सुबह करीब साढ़े तीन बजे बादल फटने से भारी तबाही हुई। खादवी, सरट और तराला गांव में पानी और मलबा आ गया, जिससे करीब 25 परिवारों को भारी नुकसान हुआ है। लोगों के सेब के 700 पेड़ मलबे में दब गए। 25 बीघा जमीन, आठ मकानों और एक गोशाला को नुकसान पहुंचा है, जबकि दो खड़ी गाड़ियां मलबे के साथ 25 मीटर नीचे बह गईं।

तहसीलदार आनी दलीप शर्मा ने बताया कि सूचना मिलने के बाद राजस्व विभाग, पुलिस की टीम घटनास्थल को रवाना हो गई है, जबकि उन्होंने खुद मौके पर पहुंचकर नुकसान का आकलन किया। तहसीलदार ने बताया कि नुकसान का आकलन कर रिपोर्ट तैयार कर डीसी कुल्लू को भेज दी है। प्रभावितों को तय नियमों के तहत उचित मुआवजा दिलवाया जाएगा। पंचायत प्रधान चंद्रा ठाकुर और उपप्रधान भूप सिंह ने बताया कि बादल फटने से लोगों में दहशत है।

 

error: Content is protected !!