पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने राजनीतिक विरोधियों पर हमला बोला है। उन्होंने चुनाव शपथ पत्र का बेबुनियाद मामला उछालने और राजनीतिक दबाव में एफआईआर कराने पर कहा कि प्रदेश से केंद्र तक भाजपा की सरकार है।

चाहे जिस मर्जी एजेंसी से जांच करा लें, उनका जीवन खुली किताब है। राजनीतिक प्रतिशोध की भावना से जितना दबाने की कोशिश करेंगे, वे उतना ही मजबूत होकर उभरेंगे। रात के 11 बजे पुलिस पर दबाव डालकर आधारहीन मामला दर्ज कराने से कुछ हासिल होने वाला नहीं है।

सुखविंद्र सिंह सुक्खू
सुखविंद्र सिंह सुक्खू

सुक्खू ने कहा कि भाजपा नेताओं के इशारे पर कुछ स्वार्थी तत्व जिन गड़े मुर्दों को उछालने की कोशिश कर रहे हैं, उनमें वह हाईकोर्ट से पाक साफ निकल चुके हैं। उन्होंने कहा चुनाव आयोग के समक्ष भी राजनीतिक विरोधियों के आरोप कहीं नहीं ठहरे।

 

हाईकोर्ट के आदेश पर इन आरोपों की जांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हमीरपुर कर चुके हैं। उन्होंने शपथ पत्र की जांच के बाद पाया था कि इसमें कोई मामला बनता ही नहीं है।

विरोधी इस मामले को 2012 और 2017 के विधानसभा चुनाव में भी उछाल चुके हैं। 2012 और 2017 के चुनाव शपथ पत्र में उनसे जुड़ी हर जानकारी मौजूद है, जिसे कुछ अज्ञानी समझ नहीं पा रहे। सुक्खू ने कहा कि जनता की लड़ाई वह हर मोर्चे पर लड़ते रहेंगे।

बकौल सुक्खू चुनाव शपथ पत्र का झूठा मामला बार-बार उठाने वालों पर उन्होंने मानहानि का दावा किया हुआ है। पुलिस ने ताजा मामला बिना तथ्यों की जांच के ही दर्ज किया है। इसमें भी झूठे आरोप लगाने और उनकी छवि धूमिल करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

 

error: Content is protected !!