मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश के प्रत्येक नागरिक का जीवन महत्वपूर्ण है। इसके चलते कोरोना संक्रमण रोकने के लिए कुछ और पाबंदियां लगाई जा सकती है। उन्होंने पिछले दिनों कोविड महामारी पर काफी नियंत्रण रहा लेकिन आजकल फिर से कोविड के मामलों में बढ़ौतरी देखने को मिल रही है जो स्वाभाविक रूप से चिंता का विषय है।

 

हाल ही में स्कूलों को खोलने का फैसला लिया गया था लेकिन कोविड के मामलों में बढ़ौतरी के कारण फिर से स्कूलों को 22 अगस्त तक बंद करना पड़ा। इसके पीछे सरकार का यही भाव है कि बच्चे इस संक्रमण की चपेट में न आएं। जनमानस में फिर से यह संक्रमण ज्यादा न फैले, उसके लिए कुछ और पाबंदियां लगाने का समय आ गया है। 

सीएम ने कहा कि 15 अगस्त तक हम देखेंगे, वैसे कुछ पाबंदियां लगा भी दी हैं। जो हमारी इंटरस्टेट मूवमैंट होती है, उसमें हिमाचल में आने वाले लोगों के लिए आरटी-पीसीआर टैस्ट या फिर एंटीजन रैपिड टैस्ट आवश्यक कर दिया गया है या फिर उन्हीं लोगों को प्रवेश की अनुमति होगी, जिन्होंने दोनों वैक्सीन लगा ली हैं। हर हिमाचलवासी का जीवन हमारे लिए महत्वपूर्ण है।

 

इसलिए प्रदेश की जनता से भी विनम्र आग्रह है कि सभी कोविड नियमों का पालन करें ताकि इस संक्रमण को बढऩे से रोका जा सके। कोविड के जो दो दौर आए थे, उससे देश व प्रदेश में काफी क्षति हुई है। तीसरी लहर की चपेट में आने से बचने के लिए एहतियात बरतनी होगी। 

error: Content is protected !!