हिमाचल में धारा 144 लागू, 16 मई तक कोरोना कर्फ्यू

शिमला  – हिमाचल में कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते धारा 144 लागू कर दी गई है। प्रदेश में कल रात से 16 मई तक कोरोना कर्फ्यू लगा दिया गया है। सरकारी व निजी दफ्तर 16 मई तक बंद रहेंगे। कर्मचारी घर से काम करेंगे। वर्क फ्रॉम होम के दौरान कर्मचारी हैडक्वार्टर नहीं छोड़ सकते हैं। इसके अलावा अगले आदेशों तक शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे। कृषि व अन्य सिविल वर्क जारी रहेंगे। औद्योगिक प्रतिष्ठान को भी छूट दी गई है।

वहीं, कैबिनेट ने 10वीं की परीक्षा रद्द करने का फैसला लिया है। छात्रों को सीबीएसई पैटर्न पर पदोन्नत किया जाएगा। वहीं, बाहरी राज्यों से आने वालों लोगों के लिए जारी निर्देश पहले जैसे रहेंगे। उन्हें 72 घंटे की आरटीपीसीआर रिपोर्ट लानी जरूरी होगी। अगर कोई बिना रिपोर्ट आता है तो उसे 14 दिन के लिए होम क्वारंटाइन किया जाएगा।

आपको बताते चलें कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में हिमाचल में कोरोना कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया गया है जोकि 6 मई की रात से 16 मई तक लागू रहेगा। इस दाैरान सभी सरकारी और निजी कार्यालय/प्रतिष्ठान 7 मई से 16 मई की मध्यरात्रि तक बंद रहेंगे। इस दौरान राज्य में धारा-144 लागू रहेगी। इस दौरान एक स्थान पर 5 लोगों से ज्यादा इकट्ठे नहीं हो पाएंगे।

यह भी तय किया गया कि सभी आवश्यक सेवाएं जैसे स्वास्थ्य, बिजली, दूरसंचार, जल आपूर्ति व स्वच्छता आदि जारी रहेंगी। मंत्रिमंडल ने निर्णय लिया कि नागरिक कार्य स्थलों, बागवानी/कृषि और अन्य परियोजना स्थलों पर काम जारी रहेगा। राज्य में शैक्षणिक संस्थान 31 मई तक बंद रहेंगे। सभी सरकारी और निजी परिवहन अधिभोग का 50 प्रतिशत होगा और अंतर-राज्यीय परिवहन जारी रहेगा। औद्योगिक प्रतिष्ठान राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार काम करेंगे।

मंत्रिमंडल ने निर्णय लिया कि हिमाचल प्रदेश बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन की 10वीं कक्षा की वार्षिक परीक्षा रद्द कर दी जाएगी। बोर्ड द्वारा सभी छात्रों को 10वीं कक्षा की परीक्षा के लिए सीबीएसई द्वारा सुझाए गए मानदंडों के अनुसार 11वीं कक्षा में पदोन्नत किया जाएगा।

यह भी निर्णय लिया गया कि हिमाचल प्रदेश बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन की 12वीं कक्षा की परीक्षा और कॉलेजों की वार्षिक परीक्षा भी अगले आदेश तक स्थगित रहेगी। मंत्रिमंडल ने क्षेत्र के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य देखभाल अस्पताल सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न श्रेणियों के 76 पदों के सृजन के साथ क्षेत्रीय अस्पताल ऊना को 300 बैडिड क्षेत्रीय अस्पताल के रूप में अपग्रेड करने के लिए अपनी स्वीकृति दी।

मंत्रिमंडल ने क्षेत्र के लोगों की सुविधा के लिए आवश्यक पदों के साथ मंडी जिले के धर्मपुर में एक नया जल शक्ति सर्किल बनाने का निर्णय लिया। मंत्रिमंडल ने ऊना जिले के कुटलेहड़ विधानसभा क्षेत्र में थानाकलां में एक नया जल शक्ति प्रभाग खोलने के लिए भी अपनी सहमति दी।

मंत्रिमंडल ने डिवीजन के बेहतर प्रशासनिक कामकाज के लिए जल शक्ति सब डिवीजन नंबर-2 ऊना में बेसल को मौजूदा कर्मचारियों और बुनियादी ढांचे को स्थानांतरित करने की अनुमति दी है। यह जानकरी शहरी विकास मंत्री राजीव भारद्वाज ने पत्रकार वार्ता में दी। बता दें कि मंत्रिमंडल की बैठक से पहले मुख्यमंत्री ने सर्वदलीय बैठक बुलाई थी, जिसमें विपक्ष ने लॉकडाऊन लगाने की सिफारिश की है।

 

Leave a Reply

Top