Scrap policy launched : (नई दिल्ली) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को स्क्रैप पॉलिसी की शुरुआत कर दी। वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए हुई इस नीति की लांचिंग के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि स्क्रैपिंग की वजह से जो स्क्रैप मैटीरियल तैयार होगा, उससे ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री को सस्ते दाम में कच्चा माल प्राप्त होगा, उससे वाहन बनाने की लागत कम होगी।

स्क्रैप मैटीरियल से ऐसी चीजें भी प्राप्त होंगी, जो इलेक्ट्रिक गाडिय़ों की बैटरी के रिसर्च में काम आएंगी। पॉलिसी के तहत वाहन के मालिक को व्हीकल का स्क्रैप मूल्य जो लगभग चार से छह प्रतिशत होता है, वह उसे मिलेगा और एक सर्टिफिकेट भी मिलेगा। सर्टिफिकेट के आधार पर नया वाहन खरीदने के लिए पांच फीसदी की छूट भी मिलेगी और रजिस्ट्रेशन फीस और रोड टैक्स में भारी छूट भी मिलेगी।

ऑटोमोबाइल सेक्टर लगभग 3.7 करोड़ लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार देती है और इसका कुल टर्नओवर 7.2 लाख करोड़ का है. स्क्रैपिंग पालिसी के लागू होने पर न केवल इन आंकड़ों में वृद्धि होगी पर स्क्रैपिंग सेंटरों, ऑटोमेटिक फिटनेस सेंटरों की वजह से 10,000 करोड़ का अतिरिक्त निवेश और 35,000 लोगों को एलाइड सर्विस सेक्टर जैसे क्षेत्रों में सीधा रोजगार मिलेगा।

error: Content is protected !!