Prisoners : नए व्यवसायिक कौशल सीखेंगे जेल में बंद कैदी, रिहाई के बाद आसानी से कमा सकेंगे आजीविका

शिमलामुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंगलवार को ओकओवर में हिमाचल प्रदेश मॉडल प्रीजन मैनुअल-2021 को जारी किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि यह मॉडल प्रीजन मैनुअल कारागार बंदियों के सुधार और पुनर्वास में सहायता करेगा और जेलबंदी अपनी कारावास अवधि का सही उपयोग कर नए व्यवसायिक कौशल सीखेंगे।

 

इस प्रकार कारावास से रिहा होने के बाद वे आसानी से अपनी आजीविका अर्जित कर अपने परिवार की सहायता कर सकते हैं। फिर से अपराध की राह पर चलने के बजाय पुनर्वास के बाद समाज का हिस्सा बन आदर्श नागरिक के रूप में देश की सेवा करेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष-2020 में आयोजित डीजीपी/आईजीपी सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने प्रत्येक राÓय को एक आदर्श राÓय जेल नियमावली बनाने का निर्देश दिया था, इसलिए राÓय पुलिस आदर्श जेल नियमावली का मसौदा तैयार करने और यथाशीघ्र लागू करने का भी निर्देश दिया गया। उन्होंने कहा कि मौजूदा हिमाचल प्रदेश जेल मैनुअल-2000 लगभग 21 साल पुराना है। उन्होंने कहा कि जेल मैनुअल में राÓय की भौगोलिक परिस्थितियों, खान-पान और जलवायु परिस्थितियों के अनुसार कुछ संशोधन किए गए हैं।

Prisoners in jail will learn new business skills, will be able to earn livelihood easily after release

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!