OSIRIS-Rex अंतरिक्ष यान ने पृथ्वी के लिए यात्रा शुरू की

नासा के अंतरिक्ष यान ने “ओसिरिस-रेक्स” (Osiris Rex) ने पृथ्वी के लिए दो साल की लंबी यात्रा शुरू कर दी है। यह अंतरिक्ष यान 2018 में क्षुद्रग्रह बेन्नू (asteroid Bennu) पर पहुंचा था। इस अन्तरिक्षयान ने इस क्षुद्रग्रह के चारों ओर दो साल तक उड़ान भरी और कई नमूने इकट्ठा किये।

OSIRIS-Rex

  • इस मिशन को क्षुद्रग्रह बेनु का अध्ययन करने के लिए लॉन्च किया गया था।इस मिशन ने बेन्नू की सतह को मैप करने में 5 साल व्यतीत किये।
  • 2020 में, वैज्ञानिकों ने ओसिरिस रेक्स को 60 किलो ग्राम रेजोलिथ (शीर्ष मिट्टी) को लाने करने का निर्देश दिया था।
  • यह मिशन सौर प्रणाली की उत्पत्ति और विकास को समझने में मदद करेगा।

बेन्नू ही क्यों?

  • यह वर्तमान में पृथ्वी के लिए ज्ञात सबसे खतरनाक क्षुद्रग्रह है। इसके 22वीं शताब्दी में पृथ्वी से टकराने की 1/2700 संभावना है।
  • यह 6 साल में एक बार पृथ्वी के सबसे करीब पहुंचता है।

क्या यह एक क्षुद्रग्रह पर लैंडिंग वाला पहला मिशन था?

जापान ने हायाबुसा भेजा था और यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी ने रोज़ेटा मिशन भेजा था। इस प्रकार, यह एक क्षुद्रग्रह पर लैंड करने वाला पहला मिशन नहीं था।

हायाबुसा मिशन (Hayabusa Mission)

2014 में रयुगु (Ryugu) से नमूने एकत्र करने के लिए यह मिशन लॉन्च किया गया था। यह 2018 में रयुगु तक पहुंच गया गया। इसने वहां 18 महीने बिताए और दिसंबर 2020 में पृथ्वी पर लौट आया।

रोज़ेटा मिशन (Rosetta Mission)

  • रोज़ेटा मिशनयूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी द्वारा 2004 में धूमकेतु चुरयीमोव-गेरासिमेंको (Churyumov-Gerasimenk) की खोज के लिए लांच किया गया था।
  • यह धूमकेतु की परिक्रमा करने वाला पहला मिशन था।इसके अलावा, यह पहला मिशन था जिसने इसकी सतह पर एक प्रोब को लैंड किया था।

Author: बोलता हिमाचल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *