हिमाचल प्रदेश में दांतों के इलाज के लिए नौ ओरल डेंटल हैल्थ क्लीनिक खोले जाएंगे। इन्हें खोलने के लिए भारत सरकार से अनुमति प्राप्त हो चुकी है। इन डेंटल हैल्थ क्लीनिक में बीपीएल परिवारों और बुजुर्ग व्यक्तियों को मुफ्त में इलाज मिलेगा।

स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि हिमाचल प्रदेश में नियमित डेंटल क्लीनिक के अलावा 13 अतिरिक्त डेंटल क्लीनिक चलाए जा रहे हैं ऐसे में अब नौ अतिरिक्त ओरल डेंटल स्थापित किए जाएंगे। यह ओरल डेंटल हैल्थ क्लीनिक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और सिविल स्वास्थ्य केंद्र पर स्थापित किए जाने हैं। इन स्वास्थ्य केंद्रों पर मरीजों को दांतों से संबंधित रोगों के बारे में चिकित्सा सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।

.
स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि नेशनल ओरल डेंटल हैल्थ प्रोगाम का उद्देश्य प्रदेश में सभी मरीजों को दांतों से संबंधित रोगों का इलाज उपलब्ध करवाना है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन राज्य के 85 दंत चिकित्सालयों में इस योजना का वित्तपोषण कर रहा है। इन क्लीनिकों का संचालन दंत यांत्रिकी द्वारा किया जाता है जो लाभार्थियों के लिए कृत्रिम डेंचर बनाते हैं। उन्होंने आगे बताया कि मुफ्त कृत्रिम डेंचर प्रदान करने की योजना के लाभार्थी 65 वर्ष या उससे अधिक आयु वर्ग के रोगी हैं।

इसके अलावा मुस्कान परियोजना के तहत बीपीएल के परिवारों को मुफ्त डेंचर भी प्रदान किया जाता है और शेष लाभार्थियों से डेंचर के लिए आरकेएस की मामूली दर वसूल की जाती है। उन्होंने कहा कि कुल 4058 और 4011 लाभार्थियों ने क्रमश: वर्ष 2019-20 और 2020-21 में मुफ्त डेंचर का लाभ उठाया।

टोल फ्री नंबर पर भी मिलेगी मदद

सरकारी प्रवक्ता ने कहा कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने एक राष्ट्रीय टोल फ्री डेंटल एंड ओरल हैल्थ केयर इंटरेक्टिव वॉयस रिस्पांस सिस्टम नंबर 1800112032 लॉन्च किया है। उन्होंने कहा कि मंत्रालय ई-दंत सेवा भी प्रदान करता है। इस डिजिटल प्लेटफॉर्म में मौखिक स्वास्थ्य देखभाल और राज्य में सभी दंत चिकित्सा सुविधाओं की सूची के बारे में जानकारी है।

इस प्लेटफॉर्म की अनूठी विशेषता यह है कि यह एक लक्षण चेकर भी है। उन्होंने अपील की कि जीवन की भलाई और अच्छी गुणवत्ता के लिए मौखिक स्वास्थ्य अनिवार्य है, इसलिए हम सभी को स्वस्थ मौखिक स्वास्थ्य सुनिश्चित करना चाहिए।

Follow Facebook Page

Appointments : दिवाली के बाद होंगी 1800 नियुक्तियां, चुनाव आचार संहिता के कारण अटकी है नियुक्तियां

Corona Restrictions: सीएम बोले; फेस्टिवल सीजन के बाद लगेंगी कोरोना बंदिशें!

error: Content is protected !!