जयराम बोले- वीरभद्र सिंह से मिलकर लगता था किसी शख्सियत से मिले

पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के निधन की खबर सुनते ही मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर गुरुवार सुबह 11 बजकर 17 मिनट पर हॉलीलॉज पहुंचे। उन्होंने वीरभद्र सिंह की देह के अंतिम दर्शन किए और उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। जयराम ठाकुर ने कहा कि वीरभद्र सिंह से मिलने पर किसी शख्सियत से मुलाकात की अनुभूति होती थी।

वे एक अच्छे इंसान थे। नेता के रूप में देश भर में अपनी पहचान बनाई। छह बार हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। मुख्यमंत्री और केंद्र में मंत्री रहते भी हिमाचल की बात प्रखर ढंग से रखी। सीएम बोले – मैं व्यक्तिगत रूप से उनके बहुत नजदीक भी रहा। वैचारिक रूप में हम सत्ता और विपक्ष के दो हिस्से रहे।

विधानसभा के अंदर जब गरमागरमी होती थी तो माहौल को शांत करने में अहम भूमिका निभाते थे। प्रदेश के विकास में उनका बड़ा योगदान है। उन्हें मजबूत नेतृत्व के रूप जाना जाता है।विपरीत परिस्थितियों में विचलित नहीं होते थे। प्रदेश की राजनीति में कांग्रेस पार्टी में उनका बड़ा कद था।

बहुत बड़ा नेतृत्व उन्होंने अपने हाथों से बड़ा किया है, जो नेतृत्व सफल हुआ है। विधानसभा के अंदर मैं भी 24 साल से हूं, उनको देखा कि संतुलन नहीं खोना, अपनी बात जहां कहना है, वहां प्रखर ढंग से कहते थे। सार्वजनिक, विधानसभा में भी सहजता से वो बात कहते थे, जो उनका लगता था कि कहनी चाहिए।  प्रदेश को बहुत बड़ी क्षति हुई। हिमाचल के विकास में जो उनका योगदान रहा है, उसे हम आगे बढ़ाएंगे।

जब मेरा हाथ पकड़कर गाड़ी में बैठा लिया
मेरे विधानसभा क्षेत्र में आना हुआ, मैं विधायक के नाते अभिनंदन करने पहुंचा। जंजैहली में उन्होंने पूछा आप कार्यक्रम में नहीं आ रहे हैं, मैंने कहा कि आपकी पार्टी में अलग आयोजन किया है मुझे जाना चाहिए, उन्होंने हाथ पकड़कर गाड़ी में बैठाया और कहा – आप चल रहे हैं। मैने गाड़ी में पूछा, आप मुझे बोलने का मौका तो नहीं देंगे तो उन्होंने कहा कि आप बोलेंगे। मैंने समस्याएं उनके सामने उठाईं। साथ भोजन भी किया।

जब कसके लगाया गले वीरभद्र ने 
सीएम जयराम ठाकुर ने वीरभद्र सिंह की बेटी की शादी के वाक्या को याद करते हुए बताया – हम बधाई देने पीटरहॉफ गए तो उन्होंने कसके मुझे गले लगाया। इसकी बाद में फोटो भी वायरल हुई। उन्होंने अपने संबंधियों से मेरा परिचय करवाया, मेरे बारे में कहा कि ये अलग आदमी है।

मुख्यमंत्री के साथ हॉलीलॉज पहुंचे भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुरेश कश्यप ने भी वीरभद्र सिंह के दर्शन किए। उन्होंने कहा कि यह कांग्रेस ही नहीं, पूरे प्रदेश और देश की क्षति है। हमने एक कद्दावर नेता खोया है। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे। कश्यप ने कहा कि विधानसभा में सबको बोलने का मौका देते थे। एक बार उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर कहा कि ये अपना बच्चा है, थोड़ा बोलता कम है, तो मैंने कहा, मैं बोलता हूं सर। फिर वे हाथ पकड़ कर हंसने लगे, मेरी पीठ थपथपाई।

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!