बिलासपुर में दिखा कोरोना कर्फ्यू का असर, घरों से बाहर कम ही निकले लोग

कोविड-19 की दूसरी लहर को रोकने के लिए प्रदेश में लगाए गए कोरोना कर्फ्यू का पहले दिन असर देखने को मिला। जिले में सभी मुख्य बाजारों में दुकानदारों ने सरकार द्वारा जारी एसओपी के तहत अपनी दुकानें खोलीं तथा निर्धारित समय 2 बजे अपनी-अपनी दुकानें बंद कर दीं।

शुक्रवार को केवल डेली नीड्ज, सब्जी, फल, कैमिस्ट, मेडिकल लैब, कृषि उपकरण से संबंधित, हार्डवेयर, ढाबे व किरयाना की दुकानें ही खुलीं जबकि अन्य दुकानें पूरी तरह बंद रहीं।

कोरोना कर्फ्यू
कोरोना कर्फ्यू

हालांकि ग्रामीण क्षेत्रों में कुछेक लोगों ने मिठाई की दुकानें खुली रखी थीं। मामला जिला प्रशासन के संज्ञान में आने के बाद प्रशासनिक स्त्तर पर संबंधित दुकानों को बंद करवाया गया। जिला प्रशासन ने कोरोना कर्फ्यू का सख्ती से पालन करवाने के लिए जगह-जगह पर पुलिस बल तैनात किया था जोकि हर आने-जाने वाले से उसके आने का कारण पूछते रहे और उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश भी जारी करते रहे।

पुलिस कर्मी दोपहिया वाहन पर एक और कार में 3 लोगों को ही बिठाने के निर्देश देते दिखाई दिए। शुक्रवार को कोरोना कर्फ्यू के कारण बहुत कम संख्या में लोग अपने घरों से निकले, जिससे बिलासपुर शहर में सन्नाटा पसरा रहा। हालांकि इस दौरान आवश्यक वस्तुओं सहित अन्य सामान लेकर जाने वाले वाहनों का आवागमन निरंतर जारी रहा।

कोरोना कर्फ्यू
कोरोना कर्फ्यू

शहर में सुबह के समय सब्जी-फलों की दुकानों में लोगों को अपनी जरूरत की सब्जियां व फल खरीदते देखा गया जबकि डेली नीड्ज की दुकानों में भी सुबह के समय ही लोगों ने खरीददारी की और उसके बाद लोग अपने घरों में बंद हो गए। हालांकि इस दौरान पुलिस का वाहन लाऊड स्पीकर लगाकर लोगों को कोविड-19 के दिशा-निर्देशों संबंधि आवश्यक जानकारी देता देखा गया।

वहीं कुछ दुकानदारों ने दुकानों को खोलने व बंद करने के समय पर सवाल उठाए हैं। इन लोगों का कहना है कि जिले में सुबह दुकान खोलने का समय निश्चित नहीं है लेकिन दोपहर 2 बजे दुकान बंद करने का समय निर्धारित है। इन दुकानदारों का कहना है कि जिला प्रशासन को सुबह 9 से 5 बजे तक का समय दुकानों को खुली रखने के लिए निर्धारित करना चाहिए, तभी दुकानदार कुछ कमाई कर सकते हैं।

कोरोना कर्फ्यू
कोरोना कर्फ्यू

तर्क दिया कि सुबह 9 बजे से पहले ग्राहक दुकान में नहीं आते। वहीं जिले के घागस, बरमाणा, कंदरौर, स्वारघाट, घुमारवीं, बरठीं, शाहतलाई में कोरोना कर्फ्यू का पूरा असर देखा गया। केवल झंडूता में ही मिठाई की एक दुकान खुलने का फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ।

Leave a Reply

Top