LIVE : HP BREAKING NEWS #28 March 2021 #HimachalNews #lockdownnews #Trend1 #hpnews shimla

HP BREAKING NEWS  Top 25

प्रदेश में बिखरी हुई कांग्रेस कर रही अनावश्यक मुद्दे उछालने का काम : जयराम

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि देश व प्रदेश मौजूदा समय में कोरोना के कारण विकट परिस्थिति से गुजर रहा है जिसके चलते संभलकर चलने की जरूरत है।

Himachal news
Jairam Thakur Himachal

स्वारघाट में पंचायत प्रतिनिधि सम्मान सम्मेलन में मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के कारण प्रदेश सरकार को केवल 2 वर्ष ही काम करने का मौका मिला। उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि विपक्षी दल के नेता कहते हैं कि प्रदेश में कुछ हुआ ही नहीं।

यदि कुछ हुआ ही नहीं तो आज कांग्रेस की यह हालत कैसे हुई। उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रदेश प्रभारी भी कह चुके हैं कि प्रदेश में कांग्रेस की हालत खस्ता है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने लॉकडाऊन के दौरान बाहरी राज्यों में फंसे लगभग अढ़ाई लाख युवाओं की प्रदेश वापसी सुनिश्चित की लेकिन कांग्रेस प्रदेश सरकार पर कोरोना फैलाने का आरोप लगाती रही जो उनकी संकुचित मानसिकता को दर्शाता है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सुर्खियों में बने रहने के लिए अनावश्यक मुद्दे उछाल रही है। उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों को आगाह करते हुए कहा कि चुनाव जीतने के बाद स्वयं को नेता समझने की भूल न करें और लोगों के हिसाब से काम करें।

उन्होंने कहा कि कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते आवश्यक है कि प्रत्येक व्यक्ति फेस मास्क का उपयोग करे और उचित दूरी बनाए रखे। उन्होंने कहा कि देश में वैंटिलेटर पर्याप्त संख्या में उपलब्ध नहीं थे लेकिन आज देश प्रतिदिन लगभग 5 लाख पीपीई किट्स तैयार कर विभिन्न देशों को भी निर्यात कर रहा है।

केंद्र ने प्रदेश को 500 वैंटिलेटर भी प्रदान किए हैं। इस अवसर पर केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर, सदर विधायक सुभाष ठाकुर, झंडूता के विधायक जीत राम कटवाल, प्रदेश भाजपा मुख्य प्रवक्ता रणधीर शर्मा व जिला मीडिया प्रभारी सोनल शर्मा भी मौजूद रहे।

 

 

वही कोरोना, वही बंदिशें…नया डर, हिमाचल में लग सकता है नाइट कर्फ्यू, लेकिन पुन: समीक्षा चार को

Himachal lockdown news
Himachal news

हिमाचल प्रदेश में कोरोना के नए मामलों पर निर्भर करेगा कि सरकार अब कितनी जल्दी सख्ती करती है। पिछले कल मुख्यमंत्री के साथ अधिकारियों ने जो चर्चा की है, उसमें साफ कहा गया है कि यदि रफ्तार ऐसी ही रहती है तो चार अप्रैल के बाद कड़े फैसले लेने ही होंगे, क्योंकि कोरोना की दूसरी लहर ज्यादा खतरनाक है और इसकी चेन को तोडऩा बेहद ज्यादा जरूरी है।

ऐसे में अधिकारियों को कहा गया है कि वह मॉनिटरिंग करते रहें जिसके बाद चार अप्रैल को सरकार इसकी समीक्षा करेगी। अधिकारियों के साथ जो चर्चा की गई है, उसमें सीमाई क्षेत्रों में ज्यादा सतर्कता बरतने को कहा है। वहां के जिलाधीशों को सरकार की ओर से आदेश हुए हैं कि वह अपने स्तर और सख्त निर्णय ले सकते हैं जो उस क्षेत्र के लिए जरूरी लगते हैं।

ऐसे में ऊना व कांगड़ा के जिलाधीशों ने तो कुछ फैसले लिए भी हैं। वहां पर भीड़ पर पाबंदी के लिए सख्ती की गई है केवल चुनावी सभाओंं को एसओपी के तहत करने की स्वीकृति है जबकि शेष पर रोक लगा दी गई है। ऐसा ही धीरे-धीरे प्रदेश के दूसरे जिलों में भी हो सकता है।

ऊना के जिलाधीश ने पहले मास्क को लेकर जो कहा था, उस पर राजनीति हावी हो गई। हालांकि मुख्यमंत्री ने खुद कहा है कि सख्ती का संदेश देना जरूरी है लेकिन जुर्माने को लेकर जो सख्ती की जा रही थी, उसमें कुछ ढिलाई बरतनी पड़ गई।

 

कंटेनमेंट जोन तोडक़र बाहर घूमने वालों के खिलाफ दर्ज होंगी एफ.आई.आर.

Himachal news
Coronavirus

कंटेनमेंट जोन के नियमों को तोडऩा अब कोविड-19 मरीज व उसके परिवार को महंगा पड़ सकता है। कंटेनमेंट जोन के नियमों को तोडऩे वालों के खिलाफ प्रशासन पुलिस के पास एफ.आई.आर दर्ज करवाएगा। इस संबंध में काफी शिकायतें मिलने के बाद अब प्रशासन ने सख्ती करने का ऐलान किया है।

गौरतलब है कि जिला में कई ऐसे मामले प्रशासन तक पहुंच रहे हैं जिनमें कोविड-19 पॉजीटिव मरीजों के परिवार के लोग कंटेनमेंट जोन नियमों की उलंघना कर रहे हैं। वहीं, कोविड पॉजीटिव मरीजों की भी कुछेक शिकायतें प्रशासन के पास पहुंची है जिसके बाद अब प्रशासन सख्त रूख अपनाने की ओर बढऩे लगा है।

गौरतलब है कि मरीज के पॉजीटिव आने के बाद उसके रहने की जगह को संबंधित एस.डी.एम. द्वारा कंटेनमेंट घोषित किया जाता है। इसके तहत आगामी 14 दिन तक उस घर में रहने वाला कोई भी इंसान न तो घर से बाहर जा सकता है और न ही उस घर में कोई बाहर से अंदर जा सकता है। वहीं संपर्क में आने वालों के पारिवारिक सदस्यों व अन्यों को 7 दिनों के भीतर कोरोना टैस्ट करवाना भी जरूरी होता है।

प्रशासन को शिकायतें मिल रही हैं कि पॉजीटिव मरीजों के परिवार के सदस्य घर के कंटेनमेंट जोन घोषित होने के बाद भी बाहर घूमते हैं और कुछ लोग कोरोना टैस्ट करवाने से इंकार कर रहे हैं। इन सबके खिलाफ अब प्रशासन आपदा प्रबंधन एक्ट के तहत एफ.आई.आर दर्ज करेगा और सख्ती से निपटेगा।

एस.डी.एम. ऊना निधि पटेल ने कहा कि कंटेनमेंट जोन से बाहर कोई नहीं जा सकता है और न ही कोई अंदर आ सकता है। ऐसा करने वालों की लोग सूचना प्रशासन या स्वास्थ्य विभाग को दें या संबंधित क्षेत्र की आशा वर्कर से करें। शिकायत आने के बाद नाम गुप्त रखते हुए नियमों को तोडऩेे वालों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया जाएगा। महामारी के इस दौर में किसी भी तरह की लापरवाही सहन नहीं की जाएगी।

सी.एम.ओ. डा. रमन कुमार शर्मा ने बताया कि नियमानुसार पॉजीटिव मरीज के संपर्क में आने वालों को 7 दिन के भीतर अपना टैस्ट करवाना होगा। ऐसा न करने वालों के खिलाफ प्रशासन के माध्यम से मामला दर्ज करवाया जाएगा। डी.सी. ऊना के निर्देशानुसार इस मामले में कोई ढिलाई नहीं बरती जाएगी।

 

हिमाचल में तीन कोरोना संक्रमितों की मौत, 354 नए पॉजिटिव

Himachal corona virus news
Covid 19 test

हिमाचल प्रदेश में शनिवार को तीन और कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हो गई। कुल्लू में 58 वर्षीय  संक्रमित व्यक्ति, ऊना में 76 वर्षीय बुजुर्ग महिला और हमीरपुर जिले के उपमंडल भोरंज के अंतर्गत पड़ते बजड़ौह की एक 81 वर्षीय कोरोना संक्रमित बुजुर्ग महिला ने दम तोड़ दिया। बीएमओ भोरंज डॉ. ललित कालिया ने बताया कि टांडा में  संक्रमित महिला की मौत हुई है।

 

वहीं प्रदेश में 354 लोगों के कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सोलन जिले में 74, कांगड़ा 62, हमीरपुर 37, सिरमौर 43, ऊना 33, मंडी 31 , बिलासपुर 23, शिमला 36, कुल्लू नौ, चंबा चार और किन्नौर में दो नए मामले आए हैं। कांगड़ा जिले में पुलिस जवान, बैंक कर्मी, विद्यार्थी और शिक्षक भी पॉजिटिव आए हैं।

नाहन कॉलेज के छह विद्यार्थी भी पॉजिटिव आए हैं। उधर, प्रदेश में शुक्रवार को कोरोना की जांच के लिए 7475 लोगों के सैंपल लिए गए। इनमें से 6247 की रिपोर्ट निगेटिव और 1035 सैंपलों की रिपोर्ट आनी है।  इसके साथ ही प्रदेश के कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 62383 पहुंच गया है। सक्रिय मामले अब 2361 हो गए हैं।

अब तक 58981 संक्रमित ठीक हो चुके हैं और1020 की मौत हुई है। बिलासपुर में कोरोना के सक्रिय केसों की संख्या 147, चंबा 17, हमीरपुर 221, कांगड़ा 430, किन्नौर पांच, लाहौल-स्पीति एक, कुल्लू 30, मंडी 87, शिमला 160, सिरमौर 201, सोलन 405 और ऊना जिले में 657 है। 

 

स्टाफ नर्स कोरोना वैक्सीन के दो डोज लेने के बाद भी आई पॉजिटिव

मंडी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डैहर में कार्यरत स्टाफ नर्स दो बार कोरोना वैक्सीन लेने के बाद भी शनिवार को कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं। स्टाफ नर्स ने 19 फरवरी और 20 मार्च को कोरोना वैक्सीन ली थी। इस दौरान वह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डैहर से अपने घर खुराहल के लिए ही बस में सफर करती रहीं। इसके अलावा वह कहीं भी बाहर नहीं गई।

इससे बावजूद वह कोरोना पॉजिटिव पाई गई है ऐसे में कोरोना से बचाव को लेकर दी जा रही वैक्सीन पर सवाल उठ रहे हैं। जिला स्वास्थ्य अधिकारी मंडी डॉ. देवेंद्र शर्मा ने बताया कि डैहर सीएचसी में कार्यरत स्टाफ नर्स के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद उसे होम क्वारंटीन कर दिया है।

ऊना के आठ वार्ड कंटेनमेंट जोन में शामिल
सदर उपमंडल के आठ वार्ड कंटेनमेंट जोन में शामिल किए गए हैं। एसडीएम ऊना डॉ. निधि पटेल ने बताया कि ऊना में डीएवी स्कूल के विपरीत अंकुश कुमार के घर, संतोषगढ़ के वार्ड नौ में कुलबंत राम के घर, बहडाला के वार्ड दस में जिया लाल के घर, जनकौर के वार्ड तीन में जनक सिंह के घर, जखेड़ा के वार्ड छह में धर्मेंद्र कालिया के घर, समूरकलां के वार्ड दो में निशा के घर, रामपुर के वार्ड चार में नंदनी के घर और रायपुर सहोड़ां के तीन में नीलकांत के घर को कंटेनमेंट जोन बनाया है। उन्होंने बताया कि यह आदेश तुरंत प्रभाव से लागू हो गए हैं। कंटेनमेंट जोन में रह रहे विद्यार्थियों, जिनमें कोविड जैसे लक्षण न हों, उन्हें परीक्षा देने जाने की अनुमति रहेगी।

 

बर्ड फ्लू की आशंका से पौंग बांध क्षेत्र में लोगों की आवाजाही पर फिर रोक

Bird flu news himachal
Bird flu

पौंग बांध क्षेत्र में बर्ड फ्लू की आशंका के चलते एक बार फिर लोगों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई है। वन्य प्राणी विंग की प्रधान मुख्य अरण्यपाल अर्चना शर्मा ने बताया कि पौंग बांध क्षेत्र में प्रवासी पक्षियों की मौत के नए मामले सामने आए हैं। एवियन इन्फ्लुएंजा (बर्ड फ्लू) की आशंका के चलते यहां पर्यटकों सहित लोगों की आवाजाही पर तुरंत प्रभाव से अगले आदेश तक रोक लगा दी गई है। 

शनिवार को भी पौंग बांध क्षेत्र में पांच और प्रवासी पक्षियों की मौत हो गई है। ये सभी मृत पक्षी बार हैडिड गीज प्रजाति के हैं। डीएफओ वाइल्ड लाइफ राहुल रहाणे ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि मृत पक्षियों को निर्धारित प्रोटोकोल के अनुसार सुरक्षित एवं वैज्ञानिक ढंग से निपटा दिया गया है। मृत पक्षियों के सेंपल जालंधर लैब में भेजे हुए हैं। 

 

कोरोना: सीएम जयराम बोले-लॉकडाउन लगाने के पक्ष में नहीं सरकार

Himachal lockdown news today
Cm jairam thakur

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि अभी हिमाचल प्रदेश सरकार राज्य में लॉकडाउन लगाने के पक्ष में नहीं है। लोग कोरोना से बचाव के लिए गाइडलाइन का पालन करें। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों पर एहतियात से ही अंकुश लगाया जा सकता है। एक साल बाद भी देश और प्रदेश में कोरोना का कहर थमा नहीं है। अगर फिर से लॉकडाउन लगता है तो इसका सीधा असर अर्थव्यवस्था पर पड़ेगा।

सीएम श्री नयनादेवी जी विधानसभा क्षेत्र के स्वारघाट में पंचायत प्रतिनिधि सम्मान समारोह में संबोधित कर रहे थे। कहा कि तीन साल के कार्यकाल में उन्होंने वह सब योजनाएं शुरू कीं, जिनके बारे में कांग्रेस ने 50 साल के कार्यकाल में कभी सोचा भी नहीं था। 

सीएम हेल्पलाइन, गृहिणी सुविधा योजना से लेकर हिमकेयर योजना से हर परिवार को लाभ मिला है। सरकार बनने के बाद एक साल लॉकडाउन में निकल गया। कोरोना का कहर एक साल बाद भी नहीं थमा है।

कोविड काल में मोदी सरकार ने 500 वेंटिलेटर प्रदेश को दिए। अब सबसे बड़ा वैक्सीन अभियान चल रहा है। कोविड काल में प्रदेश सरकार ने 42 विस क्षेत्रों में 3500 करोड़ के वर्चुअल शिलान्यास किए। देश और प्रदेश की जनता ने भाजपा की नीतियों और कार्यशैली को अपनाया है।

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी ने भी पंचायत चुनावों में मिली हार के बाद कांग्रेस के प्रदेश पदाधिकारियों पर नाराजगी जाहिर की थी। विधानसभा बजट सत्र में कांग्रेस ने जो व्यवहार राज्यपाल के साथ किया, वह सभी जानते हैं। 

पुस्तकालय भी चार अप्रैल तक बंद, स्टाफ का आना अनिवार्य

Himachal curfew news
Covid 19 himachal

उधर, उच्च शिक्षा निदेशालय के तहत आने वाले राज्य पुस्तकालय, जिला पुस्तकालय सहित अन्य सभी पुस्तकालय भी चार अप्रैल तक बंद रहेंगे। शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत कुमार शर्मा की ओर से इस बाबत शनिवार को निर्देश जारी कर दिए गए हैं। पुस्तकालय के स्टाफ को हालांकि अवकाश नहीं रहेगा।

सभी संबंधित अधिकारियों और कर्मचारियों को अनिवार्य तौर पर आना होगा। उधर, राज्य सरकार के फैसले के बाद शिक्षा निदेशालय ने भी चार अप्रैल तक हिमाचल में सभी शिक्षण संस्थानों को विद्यार्थियों के लिए बंद रखने के आदेश भी जारी कर दिए हैं। शिक्षकों और गैर शिक्षकों को इस दौरान नियमित तौर पर आना होगा।

 

हिमाचल में चुनाव के लिए पूर्व के कोरोना दिशा-निर्देश ही लागू करने के आदेश

HP BREAKING NEWS
Nagar nigam chunav himachal

नगर निगम, शहरी निकायों और पंचायतों के सात अप्रैल को होने वाले चुनाव में कोरोना संक्रमण से बचने के लिए पूर्व में पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव में जारी दिशा-निर्देश ही लागू रहेंगे। राज्य चुनाव आयोग ने संबंधित जिलों के चुनाव अधिकारियों को दिशा-निर्देश लागू करने के आदेश भी दे दिए हैं।

आदेशों के मुताबिक चुनाव ड्यूटी से पहले कर्मचारियों और अधिकारियों को प्रशिक्षण देते वक्त उचित दूरी बनाकर रखनी होगी। मतदान, मतगणना और नतीजे घोषित करते समय भी चुनाव आयोग के कोविड से बचाव के निर्देशों का सख्ती से पालन करना होगा। चुनाव प्रचार और नतीजे घोषित होने के बाद भी भीड़ नहीं जुटाई जा सकेगी।

मतदान के समय मतदाताओं को सामाजिक दूरी नियम का पालन करते हुए लाइन में खड़े रहकर अपनी बारी का इंतजार करना होगा। मतदान से पहले मतदान केंद्रों को सैनिटाइज करना होगा।साथ ही सैनिटाइजर भी उपलब्ध कराना होगा।

इसके साथ ही जरूरत के अनुसार पीपीई किट भी उपलब्ध करानी होगी। गोर हो कि प्रदेश में शहरी निकायों और पंचायतों के चुनाव हो चुके हैं, जबकि किसी कारणवश तीन ब्लॉकों चौपाल, टुटू और जिला मंडी के धर्मपुर में प्रधान का चुनाव होना है।

इसके अलावा पंचायतों में खाली अन्य पदों पर भी चुनाव होने हैं। राज्य चुनाव आयोग के अधिकारी संजीव महाजन ने कहा कि चुनाव आयोग ने चुनाव के लिए पूर्व में कोविड से बचाव के लिए जारी दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन करने को कहा है। 

 

कांग्रेस विधायक सुखविंद्र सुक्खू के खिलाफ नादौन थाने में मामला दर्ज,

Hamirpur himachal news
Sukhwinder singh sukhu (Congress)

विधानसभा चुनाव के दौरान शपथपत्र में संपत्ति की झूठी सूचना देने के आरोप में नादौन के विधायक एवं कांग्रेस के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू के खिलाफ नादौन थाने में मामला दर्ज हो गया। अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी नादौन कनिका चावला की अदालत के निर्देश पर पुलिस ने यह कार्रवाई की है। अदालत ने प्रथम दृष्टया इसे संज्ञेय अपराध का मामला बताया है। अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी ने एसएचओ नादौन को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

उपमंडल नादौन के गांव जड़ौत डाकघर सेरा निवासी बसंत सिंह पुत्र गंगा राम ने विधायक के खिलाफ अपने वरिष्ठ अधिवक्ता विरेंद्र शर्मा के माध्यम से मामले में भारतीय दंड संहिता की धारा 177, 181, 182 एवं रिप्रजेंटेशन ऑफ पीपल एक्ट के अंतर्गत केस दर्ज करने के लिए कोर्ट में याचिका दायर की थी। हाईकोर्ट के आदेश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हमीरपुर भी इस मामले की छानबीन कर चुके हैं।

अब नादौन कोर्ट के निर्देश पर पुलिस ने नादौन थाने में केस दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। शिकायतकर्ता बसंत सिंह का आरोप है कि विधायक सुक्खू ने विधानसभा चुनाव के नामांकन के समय शपथपत्र में अपनी भूमि से संबंधित संपत्ति की जानकारी छिपाई है। बसंत सिंह ने विधायक को अयोग्य करार देने की मांग की है।

उधर, पुलिस अधीक्षक हमीरपुर कार्तिकेयन गोकुलचंद्रन ने कहा कि न्यायालय के निर्देश पर नादौन थाने में विधायक सुखविंद्र सिंह सुक्खू के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। चुनाव शपथ मामले में आगामी कार्रवाई जारी है।

हिमाचल: अंब से दौलतपुर चौक तक दौड़ी इलेक्ट्रिक ट्रेन

Himachal Electric Train
Himachal Electric Train

हिमाचल प्रदेश के अंब से दौलतपुर चौक रेलवे स्टेशन तक शनिवार को लगभग सात करोड़ से विद्युतीकरण के कार्य का फाइनल निरीक्षण हुआ। इसमें हरी झंडी मिलने से अब बिजली चालित ट्रेन चलने का मार्ग प्रशस्त हो गया है। उत्तर रेलवे के सीसीआरएस (चीफ कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी) शैलेंद्र पाठक विशेष रूप से उपस्थित रहे।

चीफ कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी शैलेंद्र पाठक अंब-अंदौरा रेलवे स्टेशन से विशेष ट्रेन से विद्युतीकरण का फाइनल ट्रायल करते हुए दौलतपुर चौक पहुंचे। उन्होंने विशेष पूजा और नारियल फोड़ने के पश्चात इलेक्ट्रिक ट्रेन को हरी झंडी दिखाई। अंब से दौलतपुर तक इलेक्ट्रिक ट्रेन 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से 13 मिनट में पहुंची। यातायात निरीक्षक नरेश विज, स्टेशन अधीक्षक नरेंद्र कुमार मलिक, वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक वीरेंद्र कात्यायन भी मौजूद रहे।

शैलेंद्र पाठक ने बताया कि अंब-अंदौरा रेलवे से दौलतपुर चौक स्टेशन तक विद्युतीकरण के 15 किलोमीटर कार्य का फाइनल ट्रायल सफल रहा है। अब दौलतपुर चौक से हर आने जाने वाली ट्रेन इलेक्ट्रिक इंजन से चलेगी। पहले अंब-अंदौरा रेलवे स्टेशन तक इलेक्ट्रिक ट्रेन चलती थी। इसके आगे 15 किलोमीटर ट्रैक पर दौलतपुर चौक रेलवे स्टेशन तक डीजल इंजन से ट्रेन का आवागमन होता था। इनमें दौलतपुर चौक रेलवे स्टेशन से जयपुर व दिल्ली तक चलने वाली ट्रेन शामिल थीं।

ओएचसी डिपो और ट्रेन बैगन शेड का शुभारंभ
अंब-अंदौरा रेलवे स्टेशन पर बने ओएचसी डिपो एवं ट्रेन बैगन शेड का भी शुभारंभ किया गया। डिपो के भवन निर्माण पर करीब 2.60 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। रेलवे के सीनियर सेक्शन इंजीनियर ओम गिरी ने बताया कि ओएचसी डिपो में रेल ट्रैक की विद्युत लाइनों की मरम्मत करने के लिए स्टाफ रहेगा।

बस स्टैंड मंडी में दुकानों की नीलामी अब 23 व 24 अप्रैल को

Mandi Himachal New Bus stand
Mandi Himachal New Bus stand

मंडी: क्षेत्रीय प्रबंधक हिमाचल पथ परिवहन निगम मंडी गोपाल शर्मा ने बताया कि हिमाचल प्रदेश बस संस्थान एवं विकास प्राधिकरण मंडी द्वारा मंडी बस संस्थान पर निर्मित 19 दुकानों, एक क्लॉक रूम तथा 3 हॉल को 33 माह के लिए लाईसैंस पर देने के लिए नीलामी की तिथि जो 5 तथा 6 अप्रैल को रखी गई थी, उसे अब प्रशासनिक कारणों से 23 व 24 अप्रैल को रखा गया है। उन्होंने इच्छुक व्यक्तियों से आ्वान किया कि वे अब 23 तथा 24 अप्रैल को निर्धारित स्थान व समय पर निविदा प्रक्रिया में भाग ले सकते हैं।

 

आरोप सिद्ध, अदालत ने सुनाई 20 साल के कारावास की सजा

Court case himachal

जिला एवं सत्र (विशेष) न्यायाधीश मंडी आरके के शर्मा की अदालत ने चरस रखने के दो आरोपियों को 10-10 वर्ष के कठोर कारावास के साथ जुर्माने की सजा सुनाई है।

जिला न्यायवादी मंडी कुलभूषण गौतम ने बताया कि अभियोजन एवं बचाव पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने पाया कि आरोपी जीवन लाल पुत्र स्व. धनी राम गांव कणडू डाकघर कुटाहाची तहसील निहरी जिला मंडी और राम लाल पुत्र स्व. परस राम गांव एवं डाकघर कुटाहाची तहसील निहरी जिला मंडी द्वारा 2 किलो 100 ग्राम चरस रखने का अपराध, संदेह की छाया से परे सिद्ध हुआ है।

इस पर अदालत ने आरोपी जीवन लाल और राम लाल को एनडीपीएस एक्ट की धारा 20 और 29 के तहत दस-दस वर्ष के कठोर कारावास और एक-एक लाख रुपए के जुर्माने की सजा सुनाई।

जुर्माना अदा न करने की सूरत में अदालत ने दोनों दोषियों को एक-एक वर्ष के अतिरिक्त कारावास की सजा भी सुनाई गई। बता दें कि दिनांक 27-12-2012 को अन्वेक्षण अधिकारी उपनिरीक्षक नवीन झालटा गोहर थाना अपनी पुलिस टीम के साथ समय करीब 7.30 बजे शाम को नजद जाछ करसोग रोड पर मौजूद था तो 2 व्यक्ति करसोग की तरफ से आ रहे थे।

जिनमें से एक व्यक्ति ने एक थैला उठा रखा था। वे दोनों पुलिस पार्टी को देखकर पीछे की ओर भागने लगे, जिन्हें अन्वेक्षण अधिकारी उपनिरीक्षक नवीन झालटा ने अपनी हमराही टीम की सहायता से करीब 10-15 मीटर के फासले में काबू कर किया था।

शक के आधार पर उसके बैग की तलाशी लेने पर बैग से 2 किलो 100 ग्राम चरस बरामद हुयी थी। इस पर गोहर थाना में मामला दर्ज हुआ था। इस मामले की तफ्तीश उपनिरीक्षक नवीन झालटा गोहर थाना ने अमल में लाई थी और तप्तीश पूरी होने पर मामले का चालान थाना अधिकारी गोहर थाना ने अदालत में दायर किया था। अदालत में अभियोजन पक्ष की तरफ से मुकद्दमे की पैरवी विनय वर्मा उपजिला न्यायवादी ने की थी। अभियोजन पक्ष ने अदालत में 12 गवाहों के ब्यान कलमबंद करवाए थे।

 

लाहौल में सड़क पर पलटी कार, 4 युवक घायल

Accident Himachal

जिला लाहौल स्पीति की लाहौल घाटी के दालन गांव में एक आल्टो कार सड़क पर लुढ़क गई। वहीं सड़क पर गाड़ी पलटने के चलते चार युवक घायल हो गए हैं जिनका केलांग अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। लाहौल स्पीति पुलिस के द्वारा भी इस दुर्घटना की जांच की जा रही है।

मिली जानकारी के अनुसार एक आल्टो कार जब केलंग की ओर आ रही थी, तो अचानक चालक का नियंत्रण खो गया और कार सड़क पर पलट गई। स्थानीय लोगों ने सभी घायलों को कार से बाहर निकाला और उन्हें उपचार के लिए केलांग अस्पताल भेज दिया है। फिलहाल सभी युवकों की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।

एसपी लाहौल स्पीति मानव वर्मा ने बताया कि पुलिस ने दुर्घटना के कारणों की जांच शुरू कर दी है और घायल युवकों के बयान भी दर्ज किए जा रहे हैं। जानकारी के अनुसार घायलों की पहचान सुरेश पुत्र सोमदेव गांव गोशाल, अनिल पुत्र लाल चंद गांव मुलिंग, शांता पुत्र अजदेव गांव घिसाल पोस्ट ऑफिस साच पास चंबा व राजेश पुत्र खेराटी लाल ढालपुर जिला कुल्लू के रूप में हुई है। लाहुल स्पीति पुलिस द्वारा इस दुर्घटना की जांच की जा रही है।

NPPA ने कैंसर सहित 866 दवाओं के नए दाम किए निर्धारित

Medical
Medicine

राष्ट्रीय औषद्य कीमत प्राधिकरण (एनपीपीए) ने अगले वर्ष के लिए 866 दवाओं की कीमत निर्धारित की है। इन दवाओं को निर्धारित कीमत से अधिक दामों पर नहीं बेचा सकता। एनपीपीए ने कैंसर, शुगर, बीपी, हार्ट, किडनी सहित लगभग सभी दवाओं की कीमत निर्धारित की है।

एनपीपीए ने अपनी वैबसाइट पर यह जानकारी जारी की है। स्तर कैंसर में इस्तेमाल होने वाली ट्रास्टूजूमब की कीमत 60,298 रुपए निर्धारित की गई है। हड्डी की बीमारी होने वाली जोलोड्रोनिक ऐसिड की कीमत 4,211.34 रुपए निर्धारित की गई है। टयुमर में इस्तेमाल होने वाली टेमोजोलमाइड की कीमत 3,837.62 रुपए होगी।

हैपेटाइटस सी में उपयोग में लाए जाने वोल रैगी इंटरफैरोन इंजेक्शन 85 एमजी की कीमत 12,537, 120 एमसीजी की कीमत 14,605, और 100 एमसीजी कीमत 15,682.67 रुपए होगी। रैगलिटाइट की कीमत 7,932,08 रुपए होगी। हैपेटाइटस बी इमूग्लोबिन की कीमत 5,521.66 रुपए होगी। स्तन कैंसर में इस्तेमाल होने वाले जैमसिटाबाइन की कीमत 5,315 रुपए होगी।

एंटी कैंसर डोसेटाक्सल पावउडर इंजैक्शन 80 एम. की कीमत 5000 रुपए होगी । ब्लड क्लोटिंग के दौरान इस्तेमाल होने वाली कोगुलेशन फैक्टर की कीमत 12,350.80 रुपए निर्धारित की गई। रक्त वाहिनी में हानिकारक के थक्को को थक्को घूलाने को कम करने मे इस्तेमाल होने वाली अल्टेप्लेस की कीमत 39,753 रुपए निर्धारित की गई है। एनपीपीए के उपनिदेशक प्रसन्नजीत दास ने इसकी पुष्टि की है।

सुबाथू में कसम परेड समारोह, 80 जवानों ने खाई मातृभूमि की रक्षा की सौगंध

HP BREAKING NEWS

सुबाथू छावनी स्थित 14 गोरखा प्रशिक्षण केंद्र के सलारिया स्टेडियम में शनिवार को कसम परेड समारोह का आयोजन किया गया। समारोह का आगाज जवानों द्वारा स्टेशन कमांडिंग अफिसर ब्रिगेडियर एचएस संधू को सलामी देकर किया गया। सेना केंद्र के धर्मगुरु ने सेना में शामिल कोर्स-145 के 80 जवानों को पवित्र ग्रंथ गीता पर हाथ रखकर देश की सुरक्षा की कसम दिलवाई।

राष्ट्रधुन पर सलारिया स्टेडियम के मुख्य द्वार से सैन्य टुकड़ी ने हाथ में राष्ट्र ध्वज लेकर मैदान में प्रवेश किया तो सैन्य अधिकारियों सहित उपस्थित जनसमूह ने अपने स्थान पर खड़े होकर तिरंगे को सलामी दी। इस दौरान भारत माता की जय से सैन्य मैदान गूंज उठा।

इसके पश्चात जवानों ने खुखरी नृत्य की प्रस्तुति दी, जिसमें वीरता की झलक देखने को मिली। परंपरा अनुसार कोर्स के सर्वश्रेष्ठ जवान देव थापा मगर को ब्रिगेडियर एचएस संधू ने गोरखा बटालियन के प्रसिद्ध हथियार चांदी की खुखरी एवं मैडल देकर सम्मानित किया।

उन्होंने सभी जवानों को बधाई देते हुए कहा कि जब वह राष्ट्र सेवा के दौरान अपनी जिम्मेदारी निभाएंगे तब ट्रेनिंग के दौरान 42 हफ्तों का कठिन प्रशिक्षण उन्हें शारीरिक एवं मानसिक रूप से हर प्रकार की चुनौती से लडऩे के लिए मददगार सिद्ध होगा।

हिमाचल में कोरोना बढ़ने के साथ पर्यटन कारोबार पर 50 फीसदी तक मार, होटल संचालक चिंतित

हिमाचल प्रदेश में कोरोना के एक बार फिर बढ़ रहे मामलों से पर्यटन कारोबार पर मार पड़ी है। 15 दिन के भीतर मनाली के सरकारी और निजी होटलों में ऑक्यूपेंसी 50 फीसदी तक गिर गई है। होटलों में एडवांस बुकिंग रद्द कर दी गईं हैं। 15 से 20 फीसदी आक्यूपेंसी पहुंचने से मनाली का पर्यटन कारोबार छह माह के सबसे न्यूनतम स्तर पर पहुंच गया है। पहले से नुकसान झेल रहे हजारों होटलियरों, टैक्सी यूनियन और वोल्वो यूनियन की इससे चिंता बढ़ गई है। मनाली और कुल्लू में करीब तीन हजार होटल, होम स्टे हैं। इनमें से करीब 2200 खुल चुके हैं।

बाकी मार्च और अप्रैल में खोलने की तैयारी थी। कुल्लू-मनाली में पर्यटन विकास निगम के सबसे अधिक होटल चल रहे हैं। यहां भी पिछले दो सप्ताह से सन्नाटा पसरा है। पर्यटकों की कमी से निगम के होटलों में 15 प्रतिशत ही कमरे लग रहे हैं। पंजाब, दिल्ली, महाराष्ट्र आदि कई राज्यों में कोरोना के मामले बढ़ने से प्रदेश में पर्यटन पटरी से उतर गया है। पर्यटन विकास निगम के डीजीएम अनिल तनेजा ने कहा कि पर्यटन 60 फीसदी से घटकर 15 प्रतिशत तक आ गया है। ऑनलाइन बुकिंग के साथ एडवांस बुकिंग भी रद्द हो गई है।

अक्तूबर से फरवरी तक खूब रहा कारोबार
देश में कोरोना के मामले पिछले दो-तीन माह से घटना शुरू हो गए थे। इससे कुल्लू-मनाली में पर्यटन कारोबार ने रफ्तार पकड़ ली थी। अक्तूबर 2020 से फरवरी 2021 तक ऑक्यूपेंसी 60 से 100 फीसदी तक पहुंच गई थी। होटल एसोसिएशन मनाली के अध्यक्ष अनूप ठाकुर ने कहा कि कोरोना ने दोबारा चिंता में डाल दिया है।

पर्यटकों पर फिलहाल रोक नहीं : सीएम
शिमला में हुई उच्च स्तरीय बैठक में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि पर्यटकों के प्रदेश में आने पर रोक नहीं लगाई जाएगी। होटल व होम स्टे में सख्ती से मानव संचालन प्रक्रिया का पालन करने को कहा गया है, क्योंकि इस बार हालात बिगड़े तो रोजगार व आर्थिक स्थिति गड़बड़ा सकती है। मरीजों की संख्या बढ़ने पर निर्णय लिए जाएंगे। 

हिमाचल सरकार ने 18 एचपीएस अधिकारी बदले

हिमाचल सरकार ने प्रदेश पुलिस सेवा के 18 अधिकारियों को स्थानांतरित कर नई नियुक्ति दी है। गृह विभाग से जारी आदेश के अनुसार पुलिस मुख्यालय के एसपी वेलफेयर भगत सिंह को अब पुलिस मुख्यालय में ही एसपी कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी दी गई है। एसपी पीटीसी डरोह राजेश कुमार को 12 बटालियन ऊना में कमांडेंट होमगार्ड, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सीआईडी विनोद कुमार प्रथम को पुलिस मुख्यालय में एसपी वेलफेयर, डीएसपी मुख्यालय शिमला के सापेक्ष में तैनात एडिशनल एसपी शिमला प्रवीर कुमार ठाकुर को एडिशनल एसपी शिमला, एसडीपीओ परवाणू योगेश रोल्टा को डीएसपी फर्स्ट आईआरबीएन बनगढ़, डीएसपी लीव रिजर्व पुलिस मुख्यालय दिनेश कुमार शर्मा को डीएसपी स्टेट नारकोटिक्स क्राइम कंट्रोल एंड फील्ड यूनिट शिमला लगाया है।

डीएसपी सीआईडी सेंट्रल रेंज मंडी मनोज कुमार द्वितीय को डीएसपी 4 आईआरबीएन जंगलबैरी, एसडीपीओ बड़सर जसबीर सिंह को डीएसपी 1 आईआरबीएन बनगढ़, आईजी दक्षिण रेंज के स्टाफ  अफसर गुलशन नेगी को डीएसपी स्टेट डिजास्टर रिस्पांस फोर्स जुन्गा, डीएसपी ट्रैफिक शिमला कमल किशोर द्वितीय को डीएसपी हेडक्वार्टर शिमला, डीएसपी 1 आईआरबीएन बनगढ़ मीनाक्षी देवी को एसडीपीओ परवाणू, डीएसपी लीव रिजर्व हमीरपुर शेर सिंह प्रथम को एसडीपीओ बड़सर, डीएसपी एसएनसीसी एंड एफयू विक्रम चौहान को आईजी दक्षिण रेंज का स्टाफ  अफसर लगाया है। डीएसपी मुख्यालय चंबा अजय कुमार द्वितीय को डीएसपी 3 आईआरबीएन पंडोह, डीएसपी 3 आईआरबीएन पंडोह संजीव कुमार तृतीय को डीएसपी मुख्यालय चंबा, 2 आईआरबीएन सकोह के लिए स्थानांतरणाधीन डीएसपी गौरीदत्त को एचपी यूनिवर्सिटी का मुख्य सुरक्षा अधिकारी, राजकुमार को डीएसपी मुख्यालय बिलासपुर और अजय कुमार भारद्वाज को डीएसपी ट्रैफिक शिमला लगाया है।

देश के लोकप्रिय पुलिस कप्तानों की सूची में एसपी शिमला मोहित चावला भी शुमार

पुलिस अधीक्षक शिमला मोहित चावला देश के 50 लोकप्रिय पुलिस कप्तानों की सूची में शुमार हो गए हैं। फेम इंडिया 2021 लिस्ट के सर्वे के मापदंडों के मुताबिक शिमला पुलिस अधीक्षक ने सूची में 24 वां स्थान पाया है। चावला ने बताया कि उन्हें खुशी है कि कानून-व्यवस्था बनाने के लिए जनता का भरपूर सहयोग मिला रहा है।  कानून व्यवस्था में सुधार और भयमुक्त समाज का निर्माण किसी भी सरकार के लिए प्राथमिकता के साथ ही साथ बड़ी चुनौती भी होती है। उल्लेखनीय है कि फेम इंडिया मैगजीन ने शांति, सेवा, न्याय, सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध 50 लोकप्रिय पुलिस कप्तान 2021 की लिस्ट जारी की है।

सर्वे के मापदंडों और ग्राउंड सर्वे के आधार पर क्राइम कंट्रोल, लॉ एड आर्डर में सुधार, पीपुल्स फ्रेंडली, उत्कृष्ट सोच, जवाबदेह कार्यशैली, अहम फैसले लेने में त्वरित क्षमता, सजगता और व्यवहार कुशलता पर उन्हें चयनित किया गया।

देश के 700 पुलिस कप्तानों में 24 वां स्थान किया हासिल

फेम इंडिया मैगजीन एशिया पोस्ट के मुताबिक वर्तमान में देशभर में करीब 700 से अधिक एसपी में सिर्फ  50 लोकप्रिय पुलिस कप्तान को चुनना चुनौतीपूर्ण कार्य था। सर्वप्रथम विभिन्न स्रोतों, ग्राउंड सर्वे के आधार पर लगभग 200 जिला पुलिस कप्तानों (एसपी, एसएसपी, डीसीपी, कमिश्नर) को चयनित किया गया। इसमें प्रबुद्ध लोगों की राय, ग्राउंड और मीडिया रिपोर्ट को भी आधार बनाया गया। इन सभी अधिकारियों को 50 वर्गों में बांटा गया। इसके बाद हर वर्ग से एक-एक लोकप्रिय पुलिस कप्तान को सूची में शामिल गया गया।

हिमाचल पुलिस: आधारभूत ढांचा विकसित करने के लिए 126 करोड़ रुपये मंजूर

Himachal police
Himachal police

हिमाचल प्रदेश पुलिस को सरकार ने आधारभूत ढांचा निर्माण और उसे मजबूत करने के लिए 126 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। साथ ही सरकार ने इस वित्त वर्ष के लिए पुलिस को 51 करोड़ भी जारी किए हैं। यह राशि चौकी, थानों के अलावा आवासीय परिसरों के निर्माण और उनकी के लिए इस्तेमाल की जा सकेगी।

राशि जारी होने के बाद पुलिस को मेंटनेंस व रिपेयर के काम की रफ्तार बढ़ाने और लंबित कार्यों को जल्द पूरा करने पर जोर देना होगा। डीजीपी पहले ही अधिकारियों को विकास कार्यों का नियमित निरीक्षण कर ठेकेदारों से काम तेजी से कराने के निर्देश दे चुके हैं। 

पिछले कुछ सालों में हर साल पुलिस महकमे ने करोड़ों का बजटसरेंडर किया है। वित्त वर्ष 2016-17 के दौरान पुलिस ने 33.85 करोड़, 2017-18 में 72.68 करोड़ और साल 2018-19 में 145.27 करोड़ से ज्यादा की राशि सरेंडर की थी। विधानसभा की प्राक्कलन समिति ने नाराजगी जताई थी कि पुलिस जिन निर्माण एजेंसियों से काम कराती है, उनकी लेटलतीफी की वजह से न सिर्फ लागत बढ़ती है, बल्कि उससे पुलिस कर्मियों को भी परेशानी होती है।

कई कार्य तो ऐसे भी हैं, जो साल 2014 से चलने के बावजूद पूरे नहीं हो सके थे। समिति ने सिफारिश की थी पुलिस महकमा ऐसे लेटलतीफ ठेकेदारों को पेनल्टी लगाकर कार्य को दूसरे ठेकेदार को दे दे। इसके बाद डीजीपी संजय कुंडू ने प्रदेश भर में चल रहे निर्माण कार्यों को तेजी से पूरा करने के निर्देश दिए थे। 

होली के रंगों पर कोरोना का असर, बाजारों में नहीं हो रही रंगों की खरीदारी.

कोरोना ने इस बार होली का त्योहार फीका कर दिया है। होली के लिए शिमला का बाजार रंग-बिरंगें रंगों से संज तो गए है। लेकिन लोग रंगों की खरीददारी नही कर रहे हैं। जिससे कारोबारी भी काफी निराश नजर आ रहे हैं।

शिमला में पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी होली पर बाजार मंदा नजर आ रहा है। होली के लिए बाजारों में रंगों से लेकर पिचकारियां तो सज चुकी हैं, लेकिन दुकानों पर ग्राहक नहीं पहुंच रहे हैं। ऐसे में दुकानदार निराश होकर उम्मीद जता रहे हैं कि जल्द से जल्द उनका सामान बिक जाए।

राज्य सरकार द्वारा पहले ही सार्वजनिक स्थानों पर होली न मनाने के फरमान जारी किए है । होली के पर्व पर होने वालों कार्यक्रमों पर भी पावदी लगा दी है।ऐसे में लोग भी बाजारों में रंग खरीदने से परहेज कर रहे है। व्यापारी पिछले साल का समान ही बेचने को मजबूर है।

पिछले वर्ष भी कोरोना के चलते दुकानदारों का सामान नहीं बिक पाय था। ऐसे में दुकानदारों को पिछले साल का स्टॉक इस बार बेचना पड़ रहा है, ताकि सामान बिक सके और दुकानदार पिछले वर्ष हुए नुकसान को रिकवर कर सकें। लोअर बाजार के व्यापारी महेश का कहना है कि दुकानदारों ने इस साल नया स्टॉक काफी कम ही मंगवाया है।

पिछले साल का स्टॉक बिक नहीं पाया था। उन्होंने कहा कि बाजार काफी मंदा है। ग्राहक नाममात्र ही दुकानों पर पहुंच रहे है और जो पहुंच भी रहे है, वे भी काफी कम खरीददारी करके जा रहे है। कोरोना का भय अभी भी लोगों में है, ऐसे में इस बार भी पिछले वर्ष जैसे ही होली जाती नजर आ रही है।

ऊना में कोरोना से हालात खराब, 90 नए मामले आए सामने

HIMACHAL NEWS
Corona

जिला में दिन ब दिन कोरोना की रफ्तार तेज होती जा रही है। शुक्रवार को जिला में कोरोना के 90 नए मामले सामने आए हैं। पॉजिटिव पाए गए मरीजों में ललड़ी स्कूल के 10 विद्यार्थियों सहित अम्ब कॉलेज, अम्बोटा पॉलीटैक्नीक कॉलेज, नकड़ोह के निजी कॉलेज के विद्यार्थी व स्टाफ सदस्य भी पॉजिटिव पाए गए हैं। इन सबके इलाज को लेकर सीएमओ ऊना द्वारा दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

शुक्रवार देर शाम आई आरटी-पीसीआर टैस्टों की रिपोर्ट में कुल 34 मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें ललड़ी स्कूल के 10 विद्यार्थी भी शामिल हैं। पॉलीटैक्रीक कॉलेज अम्बोटा से 21 वर्षीय छात्र और 55 व 52 वर्षीय स्टाफ सदस्य, अम्ब कॉलेज से 18-18, 19 व 21 वर्षीय छात्र, नकड़ोह के निजी कॉलेज से 19 वर्षीय छात्रा, मालवीय नगर दिल्ली से 62 वर्षीय पुरुष, गौंदपुर बनेहड़ा से 29 वर्षीय महिला, गुगलैहड़ से 63 वर्षीय पुरुष व 62, 35 व 38 वर्षीय महिला, ऊना शहर के वार्ड नंबर-1 से 50 वर्षीय पुरुष, सासण से 17 वर्षीय किशोर, अम्ब से 49 वर्षीय महिला, ललड़ी से 47 वर्षीय पुरुष, नैहरियां से 52 वर्षीय महिला, पिपलु से 38 वर्षीय पुरुष व 29 वर्षीय महिला, रायपुर मैदान से 25 वर्षीय पुरुष, नैहरियां से 54 वर्षीय पुरुष, दिलवां से 63 वर्षीय पुरुष व 20 वर्षीय युवती शामिल हैं।

शनिवार को हुए रैपिड एंटीजन टैस्टों में 56 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें नारी से 49 वर्षीय पुरुष, होशियारपुर से 62 वर्षीय महिला, वनगढ़ जेल से 33 वर्षीय युवक, चंद्रलोक कालोनी से 61 वर्षीय पुरुष, शहर के वार्ड नंबर-5 से 60 वर्षीय पुरुष, अजौली से 31 वर्षीय पुरुष, रक्कड़ कालोनी से 52 व 57 वर्षीय महिला, जनकौर से 46 व 68 वर्षीय महिला, 68 वर्षीय पुरुष, 10 वर्षीय बच्चा, मैहतपुर से 36 वर्षीय पुरुष, सुनेहरा से 44 वर्षीय महिला, समनोली से 45 वर्षीय पुरुष, दिलवां से 43 व 54 वर्षीय 2 महिलाएं, अम्ब कॉलेज से 33 वर्षीय महिला, गुरूसर मोहल्ला ऊना से 73 वर्षीय पुरुष, रायपुर सहोड़ा से 75 वर्षीय महिला, धर्मपुर से 35 वर्षीय महिला, बाथड़ी से 35 वर्षीय महिला, हरोली से 66 वर्षीय पुरुष, बढेड़ा से 48 वर्षीय पुरुष, हरोली से 22 वर्षीय युवक, कुड हरोट से 68 वर्षीय महिला, टीहरा से 30 वर्षीय पुरुष, थानाकलां से 25 व 28 वर्षीय 2 महिलाएं, तलमेहड़ा से 32 वर्षीय पुरुष, दौलतपुर चौक से 61 वर्षीय पुरुष व बड़ोह से 55 वर्षीय महिला शामिल हैं। इसके अलावा 23 अन्य मामलों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।

Big breaking : हिमाचल में स्कूल, कॉलेज, विवि और तकनीकी संस्थान 4 अप्रैल तक बंद, नहीं होंगे होली के कार्यक्रम

Facebook

Author: बोलता हिमाचल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *