हिमाचल में 20 मार्च तक पूरी हो जाएंगी non board classes की परीक्षाएं

हिमाचल के सरकारी स्कूलों में non board classes
पहली से चौथी और छठी-सातवीं की वार्षिक परीक्षाएं 20 मार्च से पहले पूरी की जाएंगी। 31 मार्च को इनका परीक्षा परिणाम घोषित होगा। एक अप्रैल 2021 से नया शैक्षणिक सत्र शुरू किया जाएगा।
non board classes
non-board classes
शिक्षा विभाग ने जिला उपनिदेशकों को इस बाबत निर्देश जारी कर दिए हैं। इन कक्षाओं की परीक्षाओं के लिए जल्द ही प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय की ओर से डेटशीट जारी की जाएगी। इन नॉन बोर्ड कक्षाओं की परीक्षाएं ऑनलाइन ही होंगी। राइट टू एजुकेशन एक्ट में इन कक्षाओं में किसी भी विद्यार्थी को फेल नहीं किया जाता है। आंतरिक असेसमेंट के आधार पर उन्हें अगली कक्षा में दाखिला दिया जाता है।

non board classes

प्रदेश सरकार ने इन कक्षाओं को अभी खोलने का फैसला नहीं लिया है ऐसे में बीस मार्च तक इन कक्षाओं की ऑनलाइन परीक्षा करने का फैसला लिया गया है। बीते दिनों हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में पांचवी कक्षा और आठवीं से 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए नियमित तौर पर कक्षाएं लगाने का फैसला लिया गया है।

non board classes

प्रदेश के ग्रीष्मकालीन छुट्टियों वाले स्कूलों में एक फरवरी और शीतकालीन छुट्टियों वाले स्कूलों में 15 फरवरी से नियमित कक्षाएं शुरू होंगी। इन कक्षाओं की परीक्षाओं को लेकर स्कूल शिक्षा बोर्ड की ओर से बीते दिनों संभावित डेटशीट भी जारी कर दी गई है।

चुनाव प्रक्रिया निपटी, अब सैनिटाइज होंगे स्कूल 

 हिमाचल में चुनाव प्रक्रिया निपटते ही अब स्कूलों में सैनिटाइजेशन अभियान शुरू होगा। 27 जनवरी से प्रदेश के ग्रीष्मकालीन छुट्टियों वाले स्कूलों में शिक्षक नियमित तौर पर आना शुरू करेंगे। इसी दिन से स्कूलों में शिक्षकों की देखरेख में सैनिटाइजेशन शुरू होगी। पांचवीं और आठवीं से बारहवीं कक्षा के विद्यार्थी एक फरवरी से स्कूल आएंगे। विद्यार्थियों के आने से पहले सेनेटाइजेशन का काम पूरा किया जाएगा।
उधर, सभी स्कूलों से शिक्षा निदेशालय ने तीस जनंरी तक शिक्षण कार्य शुरू करने को लेकर माइक्रो प्लान देने को भी कहा है।
उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत कुमार शर्मा ने बताया कि सभी प्रिंसिपलों को सैनिटाइजेशन अभियान चलाने के निर्देश दे दिए गए हैं। शिक्षकों के स्कूलों में आने पर इस कार्य को शुरू किया जाएगा।
विद्यार्थियों के आने से पहले इस कार्य को पूरा किया जाएगा। इसी दौरान हर स्कूल द्वारा विद्यार्थियों की संख्या के अनुसार सीटिंग प्लान तैयार किए जाएंगे।
non board classes

विद्यार्थियों के आने-जाने और लंच के समय को भी तय किया जाएगा। स्कूलों के माइक्रो प्लान के आधार पर एक फरवरी से नियमित कक्षाएं शुरू कर दी जाएंगी। उन्होंने बताया कि किसी भी विद्यार्थी पर स्कूल में आने को लेकर दबाव नहीं बनाया जाएगा। ऑनलाइन पढ़ाई पहले की तरह जारी रहेगी। दसवीं और बारहवीं कक्षा के साप्ताहिक यूनिट टेस्ट भी जल्द शुरू होंगे।

पढ़ाई से संबंधित शंकाओं को दूर करने के लिए विशेष सत्र भी शुरू होंगे। उन्होंने बताया कि प्री बोर्ड परीक्षाओं को लेकर स्कूल शिक्षा बोर्ड के साथ चर्चा जारी है। जल्द ही इसको लेकर अंतिम तैयारियां पूरी कर ली जाएंगी।

Leave a Reply

Top