हिमाचल तकनीकी विश्वविद्यालय : यूजी अंतिम वर्ष को छोड़कर सभी कक्षाओं की ऑनलाइन परीक्षाएं लेगा तकनीकी विवि

हिमाचल तकनीकी विश्वविद्यालय ने कोरोना काल में विद्यार्थियों को राहत देते हुए स्नातक कक्षाओं के अंतिम सत्र के अलावा सभी सत्रों की ऑनलाइन परीक्षाएं करवाने का फैसला लिया है।

हिमाचल तकनीकी विश्वविद्यालय
हिमाचल तकनीकी विश्वविद्यालय

सोमवार को तकनीकी विवि परिसर दड़ूही में कुलपति प्रो. एसपी बंसल की अध्यक्षता में हुई विभिन्न सरकारी और निजी शिक्षण संस्थानों के निदेशकों, प्राचार्यों की बैठक में यह फैसला लिया गया।

बैठक में तकनीकी शिक्षा विभाग के निदेशक विवेक चंदेल ऑनलाइन माध्यम से जुड़े। तकनीकी विवि ने फैसले से पहले सभी शिक्षण संस्थानों के निदेशकों, प्राचार्यों से परीक्षा के बारे में सुझाव लिए।  इसके अलावा छात्रों के प्रतिनिधि बैठक में मौजूद रहे। कुलपति ने कहा कि सभी के सुझावों के बाद परीक्षाएं करवाने का फैसला लिया गया है।


इसमें स्नातक स्तर की सभी विषयों के अंतिम सत्र की ऑफलाइन, जबकि अन्य सत्रों की ऑनलाइन परीक्षाएं करवाने की योजना बनाई है। इसके अलावा सभी स्नातक स्तर कक्षाओं की प्रैक्टिकल परीक्षाएं ऑफलाइन ही होंगी। इस दौरान तकनीकी विवि ने यह भी निर्णय लिया है कि जो विद्यार्थी नेटवर्क की दिक्कत के चलते ऑनलाइन परीक्षा नहीं दे पाएगा, उसे एक-दो माह के अंदर एक बार ऑफलाइन परीक्षा देने का मौका दिया जाएगा।

इसके अलावा अगर कोई विद्यार्थी ऑनलाइन परीक्षा के मूल्यांकन से संतुष्ट नहीं होगा, तो ऐसे विद्यार्थियों को भी एक बार ऑफलाइन माध्यम से परीक्षा देने का अवसर देने की व्यवस्था रहेगी। इस मौके पर तकनीकी विवि के कुलसचिव अनुपम ठाकुर, अधिष्ठाता शैक्षणिक प्रो कुलभूषण चंदेल, परीक्षा नियंत्रक एवं अधिष्ठाता फार्मेसी प्रो. राजेंद्र गुलेरिया, अधिष्ठाता अभियंत्रिकी प्रो. धीरेंद्र शर्मा मौजूद रहे। 

तकनीकी विवि के कुलपति प्रो. एसपी बंसल ने कहा कि कोरोना काल में विद्यार्थियों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए परीक्षाएं ऑनलाइन करवाने का फैसला लिया गया है। सभी के सुझावों के बाद ही तकनीकी विवि ने स्नातक कक्षाओं के अंतिम सत्र के अलावा परीक्षाएं ऑनलाइन करवाने का निर्णय लिया है।

फाइनल परीक्षा तिथियां घोषित कर दी जाएगी। केंद्र और प्रदेश सरकार के कोविड-19 को लेकर जारी नियमों को ध्यान में रखकर परीक्षाएं करवाई जाएंगी। इंजीनियरिंग और फार्मेसी जैसे विषयों में के ऑनलाइन प्रैक्टिकल संभव नहीं हैं। 

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!