हिमाचल में बनेंगी तीन एसडीआरएफ कंपनियां, संजय कुंडू बोले; शिमला, मंडी, कांगड़ा में खोले जाएंगे बटालियन के मुख्यालय

हिमाचल में आगामी छह महीनों में राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल अर्थात स्टेट डिजास्टर रिस्पांस फोर्स (एसडीआरएफ) बटालियन बना दी जाएगी। प्रदेश में होने वाली आपदाओं से निपटने के लिए यह अहम भूमिका निभाएगी। राज्य के तीन जिलों में यह एसडीआरएफ खड़ी की जाएगी।

एनडीआरएफ में इन्हें राहत व बचाव कार्यों का प्रशिक्षण दिया जाएगा। राज्य के तीन जिलों में इन कंपनियों केे मुख्यालय खोले जाने हैं। इसके लिए जमीन भी तलाश ली गई है। जैसे ही जमीन का अधिग्रहण कर लिया जाएगा उसके बाद यहां पर बिल्डिंग बनाने का कार्य शुरू कर लिया जाएगा। शिमला, मंडी और कांगड़ा में बटालियन तैनात की जाएगी।

ऐसे में अब हिमाचल को आपदा के समय राहत, बचाव कार्यों के लिए केंद्र के सहारे नहीं रहना होगा। इन कंपनियों के लिए आधुनिक तरीके के उपकरण खरीदने के लिए राज्य सरकार और वल्र्ड बैंक से मदद मिलेगी। ऐसे में सभी तरह के आधुनिक उपकरण इन कंपनियों को प्रोवाइड करवाए जाएंगे।

पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू ने कहा कि हिमाचल पुलिस राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पांच प्रमुख क्षेत्रों में कार्य कर रही है। हिमाचल में कोरोना कफ्र्यू के बाद हिमाचल में पर्यटकों की बाढ़ आ गई है। हिमाचल में रोजाना 18 हजार गाडिय़ां आ रही हैं। अकेले रोहतांग टनल में रोजाना सात हजार गाडिय़ां आईं।

आने वाले समय में अपराधों से निपटने के लिए विशेष प्रशिक्षित जवानों की जरूरत महसूस हो रही है। प्रदेश पुलिस महिला व बच्चों के खिलाफ होने वाले अपराधों, नशा व मादक पदार्थ, संगठित अपराधों, यातायात सुरक्षा और संगीन अपराध जैसे मामलों से सख्ती से निपट रही है। डीजीपी ने बताया कि नशे के सौदागरों पर नकेल कसने के लिए पुलिस द्वारा पहली बार ईडी के सहयोग से अपराधियों की संपत्ति जब्त की गई।

इस सख्ती के नतीजे सामने आ रहे हैं। कुंडू ने बताया कि साइबर क्राइम के मामले प्रदेश में बढ़ते जा रहे हैं और आने वाले समय में प्रदेश पुलिस को इसके लिए और अधिक तैयारियां की जरूरत है। 

प्रदेश में 17 महीने बाद खुल रहे स्कूल, 12 मार्च से कोरोना की आहट के बीच बंद थे शिक्षण संस्थान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *