himachal school news today : निजी स्कूलों में प्राइमरी कक्षाओं के विद्यार्थियों को स्कूल बुलाना अनिवार्य नहीं, स्कूल खुद लें फैसला

Himachal School Reopen

निजी स्कूलों के अभिभावकों के विरोध के चलते प्रदेश सरकार ने प्राइमरी कक्षाओं के विद्यार्थियों की 15 नवंबर से शुरू होने वाली नियमित कक्षाओं के आदेश को बदल दिया है। शनिवार को सरकारी छुट्टी के दिन उच्च शिक्षा निदेशालय की ओर से उपायुक्त शिमला, सभी जिला उपनिदेशकों और निजी स्कूलों के प्रिंसिपलों को पत्र जारी कर निजी स्कूलों में प्राइमरी कक्षाओं के विद्यार्थियों को स्कूल बुलाने का फैसला स्वयं लेने की छूट दे दी है।

सरकार ने नौ नवंबर के आदेशों में संशोधन करते हुए निजी स्कूल प्रबंधन को एसएमसी-पीटीए से चर्चा कर इस संदर्भ में आगामी फैसला लेने की मंजूरी दे दी है। प्रदेश के शीतकालीन छुट्टियों वाले सीबीएसई और आईसीएसई के निजी स्कूलों के लिए सरकार ने यह फैसला लिया है। प्राइमरी कक्षाओं के विद्यार्थियों को स्कूलों में ना बुलाने पर ऑनलाइन कक्षाएं नियमित तौर पर लगाने के निर्देश दिए गए हैं। राजधानी शिमला के निजी स्कूलों में बच्चे पढ़ाने वाले अभिभावकों के विरोध पर सरकार ने यह संज्ञान लिया है।

सरकारी स्कूलों में कल से आएंगे पहली से बारहवीं कक्षा के विद्यार्थी.

प्रदेश के सरकारी स्कूलों और स्कूल शिक्षा बोर्ड से संबंध निजी स्कूलों के विद्यार्थियों की सोमवार से नियमित कक्षाएं लगेंगी। पहली से बारहवीं कक्षा तक के विद्यार्थी सोमवार से स्कूल आएंगे। सरकारी स्कूलों के लिए सरकार ने पुराने आदेश ही बरकरार रखे हैं।

हालांकि सरकारी स्कूलों में ऑफलाइन के साथ ऑनलाइन पढ़ाई भी जारी रहेगी। अगर कोई विद्यार्थी स्कूल नहीं आता है तो उसे व्हाट्सएप के माध्यम से शिक्षण सामग्री भेजी जाएगी। 11 नवंबर से तीसरी से सातवीं कक्षा के विद्यार्थियों को स्कूलों में बुलाया गया है। अब सोमवार से पहली और दूसरी कक्षा के विद्यार्थियों के लिए भी स्कूलों के दरवाजे खुल गए हैं।

उपायुक्त शिमला के समक्ष अभिभावकों ने जताया था रोष.

पहली से सातवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों की 15 नवंबर से नियमित कक्षाएं चलाने के फैसले का शीतकालीन छुट्टियों वाले स्कूलों के अभिभावकों ने विरोध किया था। राजधानी शिमला में अभिभावकों ने उपायुक्त शिमला को मांगपत्र सौंपकर इस फैसले पर पुनर्विचार करने की मांग उठाई थी। छात्र-अभिभावक मंच के संयोजक विजेंद्र मेहरा की अगुवाई में इस मांग को लेकर अभिभावक लामबंद हुए थे।

khel ratna award 2021 : नीरज चोपड़ा सहित 12 खिलाडिय़ों को खेल रत्न, 35 को अर्जुन अवार्ड

Author: बोलता हिमाचल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *