प्रदेश में 17 महीने बाद खुल रहे स्कूल, 12 मार्च से कोरोना की आहट के बीच बंद थे शिक्षण संस्थान

हिमाचल प्रदेश के स्कूल करीब 17 महीने बाद छात्रों के लिए खुल जाएंगे। कोरोना की आहट के चलते राज्य सरकार ने 14 मार्च को सभी शिक्षण संस्थानों को बंद करने का ऐलान किया था। पहली लहर के बाद बोर्ड छात्रों को डाउट्स क्लीयर करने के लिए अभिभावकों की सहमति पर स्कूल आने की छूट दी गई थी।

Weather : प्रदेश को गहरे जख्म दे रहा मानसून, हिमाचल राज्य में अब तक बारिश से 316 करोड़ की चपत

इस बार 10वीं से 12वीं तक तीनों क्लासों को फुल स्ट्रेंथ के साथ शुरू करने का फैसला लिया गया है। खास है कि सबकुछ ठीक-ठाक रहा तो जल्द ही छठी से नवमीं के छात्रों के लिए भी स्कूल खुल सकते हैं। इसके बाद प्राइमरी स्टेंडर्ड के स्कूलों पर भी फैसला संभावित है। हालांकि इसके लिए कोरोना की स्थिति काफी हद तक अहम रहेगी। हांलाकि पिछले साल ही अक्तूबर- नवंबर में स्कूल खोलने का प्रयास किया, लेकिन कोरोना के मामले बढ़ते देख इस फैसले को फिर से सरकार को वापस लेना पड़ा।

करीब 17 माह से छात्र ऑनलाइन पढ़ाई ही कर रहे है। अब अभिभावक भी चाहते थे कि स्कूल खुल जाएं। शिक्षा का स्तर काफी गिर रहा था। इसी बीच सरकार ने 5वीं और 8वीं के छात्रों को डाउट्स सेशन के लिए बड़ी राहत दी है। इन दोनों कक्षाओं के छात्र दो अगस्त से डाउट्स क्लीयर करने के लिए स्कूल आ सकते हैं।

जुब्बल-कोटखाई में खोले दो नए सब-डिवीजन, उपचुनावों से पहले उप-तहसील, अग्निशमन केंद्र का दिया तोहफा

लंबे समय से बंद पड़े हिमाचल प्रदेश के कोचिंग सेंटर और सभी प्रकार के प्रशिक्षण केंद्र भी 26 जुलाई से खुल जाएंगे। हालांकि कोचिंग सेंटर भी स्कूलों के साथ अक्तूबर माह में खोले गए थे। उस दौरान 50 फीसदी क्षमता के साथ कई कड़े शर्तें रखी गई थी। अब 26 जलाई से कोचिंग सेंटर व ट्रेनिंग सेंटर फुल स्ट्रेंथ के साथ खुल सकते हैं।

नाहन नगर परिषद की गाडिय़ां खड़े-खड़े पी रही डीजल, नई कार्यकारिणी ने उजागर किया मामला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *