Himachal News: मनाली मेें देश का पहला फास्टैग कनेक्टड प्रशासनिक बैरियर

विश्वविख्यात पर्यटन नगरी मनाली में बाहरी राज्यों के वाहनों को वसूलने के लिए स्थापित ग्रीन टैक्स बैरियर हाईटेक हो रहा है। इस बैरियर पर अब पर्ची कटने की बजाय फास्टैग के माध्यम से ऑनलाइन फीस वसूली जाएगी।

मनाली में फास्टैग से जुडऩे वाला ग्रीन टैक्स बैरियर देश का ऐसा पहला बैरियर होगा, जो प्रशासन के अधीन होगा। अब तक देश में एनएचएआई (नेशनल हाई-वे अथॉरिटी ऑफ इंडिया) और आईएचएमसीएल (इंडियन हाई-वे मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड) द्वारा ही फास्टैग पर आधारित बैरियर स्थापित किए गए हैं।

मनाली में ग्रीन टैक्स बैरियर को फास्टैग से जोडऩे के लिए आईएचएमसीएल और एनएचएआई के साथ कुल्लू प्रशासन का करार हुआ है।

अगले सप्ताह शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर इसका विधिवत शुभारंभ कर सकते हैं। गौरतलब है कि पर्यटन नगरी मनाली में बाहरी राज्यों से आने वाले पर्यटक वाहनों से ग्रीन टैक्स वसूल किया जाता है। विभिन्न प्रकार के वाहनों के हिसाब से लिए जाने वाले इस टैक्स को अभी तक ऑफ लाइन वसूल किया जा रहा है।

लेकिन, अगले सप्ताह से मनाली के रांगड़ी में स्थापित ग्रीन टैक्स बैरियर पर फास्टैग के माध्यम से ऑनलाइन वसूली शुरू हो जाएगी। इससे जहां रांगड़ी में लगने वाले जाम से निजात मिलेगी, वहीं पारदर्शिता भी बनी रहेगी। प्रथम चरण में कुल्लू-मनाली नेशनल हाई-वे पर रांगड़ी के बैरियर को अपग्रेड किया है। इसे शुरू करने के बाद वामतट मार्ग पर बने ग्रीन टैक्स बैरियर को भी अपग्रेड किया जाएगा। 

जाम से मिलेगी राहत


उपायुक्त कुल्लू आशुतोष गर्ग ने बताया कि मनाली का ग्रीन टैक्स बैरियर ऑनलाइन हो गया है। अब यहां फास्टैग के माध्यम से ऑनलाइन फीस ली जाएगी। यह देश का ऐसा पहला बैरियर है, जो प्रशासन के अधीन है और फास्टैग से कनेक्टिड है। देश में फास्टैग से कनेक्टिड बैरियर एनएएचआई या आईएचएमसीएल के अधीन है। कुल्लू प्रशासन का एनएचएआई और आईएमएमसीएल के साथ करार हुआ है।

इसके बाद इस बैरियर को फास्टैग से जोडा गया है। ऑनलाइन सुविधा से जुडऩे के बाद जहां बैरियर पर लगने वाले जाम में कमी आएगी, वहीं पारदर्शिता बनी रहेगी।

Follow Facebook Page

error: Content is protected !!