Himachal human rights public body meeting in Gummar for not receiving proper compensation of lands in forelane

फोरलेन में जमीनों का सही मुआवजा न मिलने पर गुम्मर में हुई हिमाचल मानवाधिकार लोक बॉडी की बैठक

शिमला-मटौर फोरलेन हाईवे बनने पर जिन लोगों की जमीनें इस जद में जा रही हैं वे सरकार द्वारा सही मुआवजा न दिए जाने पर रोष में हैं। इसी के चलते ज्वालामुखी उपमंड़ल के गुम्मर गांव में ग्रामीणों ने हिमाचल मानवाधिकार लोक बॉडी की बैठक का आयोजन करवाया, जिसमें ग्रामीणों ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। बैठक प्रांत अध्यक्ष राजेश पठानिया की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।

इस मौके पर सचिव राज पठानिया, सदस्य सुरेंद्र कुमार व करण राणा आदि विशेष रूप से उपस्थित रहे। बैठक की अध्यक्षता करते हुए प्रांत अध्यक्ष राजेश पठानिया ने ग्रामीणों से कहा कि मटौर शिमला फोरलेन बनने जा रहा है उसमें जितने भी ग्रामीण इस फोरलेन की जद में आ रहे हैं उनके साथ आज पहली बैठक का आयोजन किया गया है। विशेषकर करण राणा के प्रयासों से यह बैठक संभव हो पाई है। उन्होंने बताया कि बैठक में बुजुर्ग, ग्रामीण प्रभावित बैठक में आए पर विशेषकर गुम्मर पंचायत प्रधान उप प्रधान ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई।

उन्होंने बताया कि ये हमारे हक की लड़ाई है इसमें कोई भी किसी भी कीमत पर पीछे नहीं हटेगा। जब तक सरकार ग्रामीणों की जमीनों का उचित मुआवजा नहीं देगी  कोई भी अपनी जमीनों को सरकार को किसी कीमत पर नहीं देगा। उन्होंने बताया कि जो मुआवजा सरकार दे रही है उस मुआवजे पर 1 इंच जमीन भी सरकार को नही दी जाएगी चाहे इसके लिए कुछ भी हो कोई भी पीछे नहीं हटेगा।

उन्होंने बताया कि जब सभी संगठित होंगे तो यह कार्य संभव है और सभी को जायज मुआवजा सरकार द्वारा मिल पाएगा, लेकिन सभी को एकजुटता दिखानी होगी। उन्होंने ग्रामीणों से कहा की सभी अपनी आपत्तियां दर्ज करवाएं जैसा कि समाचार पत्र में आया है और सभी फार्मेट भर कर एस.डी.एम. को दें।

प्रान्त अध्यक्ष ने कहा कि हिमाचल लोक बॉडी हमेशा ग्रामीणों की लड़ाई लड़ती आई है और शिमला मटौर फोरलेन प्रभावितों को भी उनका सही मुआवजा दिलवाकर छोड़ेंगे चाहे इसके लिए संघर्ष का मार्ग ही क्यों न अपनाना पड़े।

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!