Indian Rupees

Himachal प्रदेश के कर्मचारियों एवं पैंशनरों को संशोधित वित्तीय लाभ देने के कारण कठिन वित्तीय संकट के दौर से गुजर रही राज्य सरकार फिर से 1400 करोड़ रुपए का कर्ज लेने जा रही है। यह कर्ज 2 मदों में क्रमश: 700-700 करोड़ रुपए करके लिया जा रहा है। एक मद में 9 साल और दूसरे मद में 10 साल की अवधि के लिए कर्ज लिया जा रहा है।

Himachal map
Himachal map

राज्य सरकार की तरफ से विधानसभा के बजट सत्र में उपलब्ध करवाए गए कर्ज के संशोधित आंकड़ों के अनुसार अब 1,400 करोड़ रुपए का कर्ज लेने से राज्य पर 64600 करोड़ रुपए का कर्ज चढ़ जाएगा। कोविड-19 संकट को देखते हुए केंद्र की तरफ से राज्य सरकार को अब 3 फीसदी की बजाए जीडीपी के 5 फीसदी तक कर्ज लेने की छूट दी गई है, ऐसे में राज्य सरकार इस वित्त वर्ष के अंत तक यानी 31 मार्च, 2022 तक 69476 करोड़ रुपए तक कर्ज ले सकती है। 

Indian Rupees
Indian Rupees

अप्रैल से बढ़ने वाला है सरकार का खर्च

1 अप्रैल, 2022 से शुरू होने जा रहे नए वित्तीय वर्ष से सरकार का खर्च बढ़ने जा रहा है। यानि कुल बजट के 100 रुपए में से वेतन पर 26 रुपए, पैंशन पर 15 रुपए, ब्याज अदायगी पर 10 रुपए, ऋण अदायगी पर 11 रुपए, स्वायत संस्थानों के लिए की ग्रांट पर 9 रुपए और शेष पूंजीगत कार्यों पर 29 रुपए व्यय होंगे। 

 

Important Himachal Pradesh General Knowledge :- HP GK 2022

Follow Facebook Page

error: Content is protected !!