Himachal Electronic Bus : दुबई की दो कंपनियां हिमाचल में इलेक्ट्रिक बस इकाइयां स्थापित करेंगी, जिसमें 10,000 लोग काम करेंगे

Himachal Electronic Bus: दुबई की दो कंपनियां ग्लोबल ड्रीम और क्रैंग्स मिलकर हिमाचल में इलेक्ट्रिक बसों की असेंबलिंग की यूनिट लगाएगी। धर्मशाला में हुई ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट में दोनों कंपनियों ने सरकार के साथ एमओयू साइन किया था।

 

प्लांट तीन हजार करोड़ से स्थापित होगा और इसमें प्रदेश के करीब 10 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। इससे हिमाचल हर साल करोड़ों रुपये का कार्बन क्रेडिट भी हासिल कर पाएगा। कंपनियां एचआरटीसी के साथ-साथ देश के अन्य राज्यों को भी इलेक्ट्रिक बसें सप्लाई करेंगी।

Himachal Electronic Bus
Himachal Electronic Bus

यूनिट स्थापित करने के लिए नालागढ़ या कालाअंब में करीब 200 एकड़ जमीन तलाश की जा रही है। सरकार ने कंपनी के प्रतिनिधियों को भरोसा दिलाया है कि कंपनियों को उत्पादन शुरू करने के लिए विभिन्न विभागों से तत्काल अनापत्ति प्रमाण पत्र मिल जाएंगे।

Himachal Electronic Bus
Himachal Electronic Bus

प्रोजेक्ट को सिंगल विंडो के तहत स्वीकृति प्रदान कर दी जाएगी। कंपनी प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से भी मुलाकात की है और उनको यह प्रोजेक्ट अतिशीघ्र आरंभ करने का विश्वास दिलाया है।

Himachal Electronic Bus
Himachal Electronic Bus

ग्लोबल ड्रीम्स कंपनी के चेयरमैनआर के मुंजाल ने बताया कि इलेक्ट्रिक बसों की आपूर्ति हिमाचल पथ परिवहन निगम और देश के अन्य राज्यों को भी की जाएगी। अभी तक कंपनी की देश के किसी भी क्षेत्र में यूनिट नहीं है। हिमाचल पहला राज्य होगा, जहां यह यूनिट लगेगी।

Join facebook page

Farmers Protest: किसानों के समर्थन में पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने लौटाया पद्मविभूषण

Coronavirus बड़ा झटका: ‘कोविडशील्ड’ के गंभीर साइड-इफेक्ट का दावा, पांच करोड़ मुआवजा मांगा

Leave a Reply

Top