हिमाचल कैबिनेट निर्णय: 11 से 22 अगस्त तक विद्यार्थियों के लिए स्कूल बंद, बाहरी राज्यों से आने वालों के लिए आरटीपीसीआर रिपोर्ट अनिवार्य

हिमाचल प्रदेश में दो अगस्त से 10वीं से 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए खोले गए स्कूलों को दोबारा बंद कर दिया गया है। मंगलवार देर शाम विधानसभा परिसर में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित की गई कैबिनेट की बैठक में स्कूलों को विद्यार्थियों के लिए 11 से 22 अगस्त तक बंद रखने का फैसला लिया गया। शिक्षकों का स्कूलों में आना अनिवार्य रहेगा। शिक्षक स्कूलों से विद्यार्थियों को ऑनलाइन पढ़ाई करवाएंगे।

 

वहीं, 16 अगस्त से कॉलेजों में नया शैक्षणिक सत्र शुरू करने को लेकर दो-तीन दिन में फैसला लिया जाएगा। प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ रहे मामलों को देखते हुए सरकार ने नौ दिन बाद ही स्कूलों को बंद करने का फैसला ले लिया है। मंत्रिमंडल ने पांचवीं और आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों को स्कूलों में शिक्षकों से परामर्श लेने के लिए पूर्व में की गई व्यवस्था पर भी रोक लगा दी है। इन कक्षाओं के विद्यार्थी भी अब स्कूलों में नहीं आ सकेंगे। 

corona
corona

उधर, सरकार ने बाहरी राज्यों से आने वाले हर व्यक्ति के लिए कोरोना की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट, कोविड वैक्सीन की दोनों डोज का प्रमाणपत्र या फिर 24 घंटे की रैपिड एंटीजन टेस्ट रिपोर्ट होना अनिवार्य किया है। पहले श्रद्धालुओं के लिए ही कोविड निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट अनिवार्य की गई थी। अब सभी के लिए इसे लागू किया गया है। वहीं, हिमाचल और बाहरी राज्यों के लिए अब 50 फीसदी सीटिंग क्षमता के साथ ही बसें चलेंगी। अंतरराज्यीय बसों में भी कोरोना निगेटिव रिपोर्ट व वैक्सीन प्रमाणपत्र की शर्त लागू होगी। कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते कैबिनेट ने यह फैसला लिया है। 

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!