हिमाचल विधानसभा सत्र: केंद्र को भेजा जाएगा आशा वर्कर के मानदेय बढ़ाने का प्रस्ताव

Himachal Vidhan Sabha Monsoon Session

हिमाचल में आशा वर्करों का मानदेय बढ़ाने का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा जाएगा। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने यह जानकारी विधानसभा सदन में दी। उन्होंने कहा कि इन वर्करों को बढ़ा हुआ मानदेय और कोरोना काल का विशेष इंसेंटिव भी जल्द जारी किया जाएगा।

 

माकपा विधायक राकेश सिंघा और भाजपा विधायक अरुण कुमार के संयुक्त सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग को 24 करोड़ की राशि मिली है।

 

इसमें से 14 करोड़ जारी कर दी है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बजट भाषण में इनके मानदेय में 750 रुपये बढ़ोतरी की घोषणा की है, उसे भी जारी किया जा रहा है। प्रदेश सरकार के इस फैसले से हिमाचल की 7964 वर्करों को फायदा होगा। माकपा विधायक राकेश सिंघा ने कहा कि आशा वर्करों के मानदेय को अभी तक नहीं बढ़ाया गया है। क्या कारण रहा है कि कोरोना वॉरियर्स को नजरअंदाज किया जा रहा है।

 

इस पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने कहा कि आशा कार्यकर्ता एक लिंक का काम करती हैं। कई स्थानों पर तो आशा वर्करों की ओर से बहुत महत्वपूर्ण दायित्व निभाया जा रहा है। इन्हें बहुत जल्द बढ़ा हुआ मेहनताना मिलेगा। कोरोना काल में इंसेंटिव की 1500-1500 की राशि जल्द जारी की जाएगी। विधायक अरुण कुमार ने कहा कि आशा वर्करों ने जिंदगी दांव पर लगाकर कोरोनाकाल में बेहतरीन कार्य किए।

हिमाचल आशा वर्कर
हिमाचल विधानसभा सत्र

वे यह चाहते हैं कि क्या इनके बारे में सरकार कोई प्रस्ताव केंद्र सरकार को बनाकर भेजेगी। जिससे इनके परिवार का भी ठीक से गुजारा हो। इस पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल बोले कि यह बात ठीक है कि गांव-गांव तक स्वास्थ्य सेवाएं और जागरूकता के बारे में आशा वर्करों की बहुत ज्यादा भूमिका रही है। वह इस बारे में निवेदन करेंगे कि केंद्र सरकार इस मेहनताने को बढ़ाए। 

 

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!