Coronavirus

प्रदेश के स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी ने कहा है कि कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए सरकार साठ हजार किट तैयार कर रही है। संक्रमित लोगों को घरों में आइसोलेशन में रखा है। स्थिति सामान्य न हुई तो आने वाले समय में कुछ और बंदिशें लगेंगी। लोग कोरोना संक्रमण से बचने के लिए वैक्सीन जरूर लगाएं।   

सचिव अवस्थी ने मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि प्रदेश में पॉजीटिविटी 16 फीसदी है। यह दो जिलों में 30 प्रतिशत तक है। हिमाचल में देश की तुलना में यह दर अधिक नहीं है। देश में यह दर 25 फीसदी तक है। प्रदेश में संक्रमण के 13,600 मामले हैं। 207 मरीज मेडिकल कॉलेजों में दाखिल हैं। आईसीयू में मरीज कम हैं। 207 में 110 मरीज मेडिकल कॉलेजों में निगरानी में हैं। 

अवस्थी ने कहा कि एक दिन में छह मौत हुई हैं। दो दिन में 11 मौत से ज्यादा हैं। इनमें से ज्यादातर लोग शूगर, बीपी, किडनी, लीवर और कैंसर के मरीज हैं। जब मरीज अस्पताल में इलाज को आते हैं तो उनकी कोरोना जांच की जाती है। जांच में ये कोरोना संक्रमित पाए जाते हैं।

ऐसे में उनकी मृत्यु होती है तो उनको भी कोविड से मरे मरीजों में गिनते हैं। कोरोना से बचाव और भय न करने से कोरोना मरीज बच सकते हैं। दूसरी लहर डेल्टा थी और तीसरी लहर ओमिक्रॉन की एसओपी में कोई अंतर नहीं है। पहली वेव में लॉकडाउन से लोगों को घरों में रखा गया। दूसरी लहर में आक्सीजन महत्वपूर्ण थी और तीसरी में मास्क लगाकर रखें।

Himachal: शिक्षा निदेशालय ने नियमित किए 26 क्लर्क और 16 जेओए आईटी

Inauguration of Dharamshala ropeway: मुख्यमंत्री जयराम बोले हिमाचल में पर्यटन को लगेंगे पंख

adventure sports activities को लेकर हाईकोर्ट के सरकार को दिए ये जरूरी निर्देश

error: Content is protected !!