हिमाचल प्रदेश प्रारंभिक शिक्षा विभाग जिला कांगड़ा की ओर से जिले में शुक्रवार को आर्ट एंड क्राफ्ट अध्यापकों को अनुबंध आधार पर नियुक्ति दी गई है। इनमें से एक अध्यापक ऐसे हैं, जो मात्र एक साल ही नियमित तौर पर अपनी सेवाएं दे पाएंगे। दो वर्ष अनुबंध के तौर पर ही बीत जाएंगे।

 

इसके अलावा पांच अध्यापक ऐसे हैं, जो चार वर्ष बाद सेवानिवृत्त होंगे। वहीं पांच ऐसे भी हैं, जो स्कूलों में मात्र पांच साल सेवाएं देने के बाद सेवानिवृत्त हो जाएंगे। जानकारी के अनुसार प्रारंभिक शिक्षा विभाग कांगड़ा ने शुक्रवार को 60 ड्राइंग अध्यापकों की नियुक्ति जिला कांगड़ा के विभिन्न स्कूलों में की है।

शिक्षा विभाग की ओर से जारी की गई सूची में देहरा तहसील से संबंध रखने वाले राकेश कुमार की नियुक्ति राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला करोआ में हुई है। राकेश की जन्मतिथि 1967 की है। ऐसे में वह उम्र के उस पड़ाव पर अध्यापक बनने का अपना सपना पूरा करेंगे, जिस उम्र में सरकारी कर्मचारी सेवानिवृत्ति के बाद शुरू होने वाली नई पारी की योजनाएं बनाने में जुट जाता है।

 

वहीं इसी सूची में चार ऐसे और ड्राइंग टीचरों को नियुक्ति दी गई है, जिनकी उम्र 54 वर्ष हो चुकी है। इसके अलावा पांच ऐसे शिक्षकों को भी तैनाती दी गई है, जो 53 साल के हो चुके हैं और स्कूलों में पांच साल तक ही सेवाएं दे सकेंगे।

सरकार को एक करोड़ का चूना, अधिकारियों ने जमीन खरीद-फरोख्त में नहीं ली पूरी फीस

विधानसभा सचिवालय की अधिसूचना : MLA को कार घर को अब एक करोड़ Loan,

Follow Facebook Page

 

error: Content is protected !!