Economy : इस साल डबल डिजिट में जाएगी अर्थव्यवस्था, कमजोर हो रही आर्थिकी को मिलेगा सहारा

  • वायरस का प्रकोप बढ़ने से आर्थिक गतिविधियों पर असर पड़ना तय
  •  2020 में आर्थिक गतिविधियों के निचले स्तर को देखते हुए जीडीपी बढ़ना तय

Economy : मूडीज ने मंगलवार को कहा कि कोविड-19 संक्रमण की दूसरी लहर से भारत के वृद्धि पूर्वानुमान के लिए जोखिम पैदा हुआ है, लेकिन फिर भी पिछले साल के निम्न स्तर को देखते हुए जीडीपी वृद्धि दर दोहरे अंक में रह सकती है।

मूडीज ने कहा कि वायरस का प्रकोप बढ़ने से आर्थिक गतिविधियों पर असर पड़ेगा। मूडीज ने उम्मीद जताई कि संक्रमण की मौजूदा लहर से निपटने के लिए एक देशव्यापी लॉकडाउन के विपरीत छोटे-छोटे कटेंटमेंट जोन पर जोर दिया जाएगा, जिससे 2020 के मुकाबले आर्थिक गतिविधियां कम प्रभावित होंगी।

Economy

मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने कहा कि भारत में कोरोना वायरस की बहुत कम मृत्यु दर (12 अप्रैल तक 1,70,179 मौतें) दर्ज की गई  है और अपेक्षाकृत युवा आबादी भी जोखिम को कम करने में मदद करती है।

2020 में आर्थिक गतिविधियों के निचले स्तर को देखते हुए जीडीपी के अब भी दो अंकों में बढ़ने की संभावना है। इससे पहले मूडीज ने फरवरी में अनुमान जताया था कि चालू वित्त वर्ष में भारत की वृद्धि दर 13.7 प्रतिशत रह सकती है।

कोरोना रोकथाम के उपायों से बनेगी उम्मीद

मूडीज ने अपनी टिप्पणी में कहा कि संक्रमण की दूसरी लहर से आर्थिक सुधार को लेकर कुछ जोखिम पैदा हुए हैं, लेकिन लक्षित रोकथाम के उपायों और तेजी से टीकाकरण से नकारात्मक असर कम होगा।

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!