प्रदेश में नालागढ़ में हजारों बेरोजगारों को रोजगार मिलने की उम्मीद है। प्रदेश के नालागढ़ में करीब 7000 करोड़ की लगात से डिफेंस मैन्युफेक्चरिंग पार्क बनाया जाएगा। नालागढ़ में यह पार्क बनने से प्रत्यक्ष तौर पर रोजगार के अवसरों का भी सृजन होगा। डिफेंस मैन्युफेक्चरिंग पार्क बनाने को लेकर प्रदेश सरकार का एसएमपीपी कंपनी के साथ ओएमयू साइन हुआ है।

 

डिफेंस मैन्युफेक्चरिंग पार्क बनने से युवाओं को घर-द्वार पर रोजगार मिलेगा। नालागढ़ में प्रस्तावित डिफेंस मैन्युफेक्चरिंग पार्क करीब 1000 एकड़ भूमि में बनकर तैयार होगा। 7000 करोड़ की लागत से बनने वाले डिफेंस मैन्युफेक्चरिंग पार्क का निर्माण कार्य दो चरणों में किया जाएगा।

 

डिफेंस मैन्युफेक्चरिंग पार्क का निर्माण कार्य के पहले चरण में 5000 करोड़ और दूसरे चरण में 2000 करोड़ खर्च किए जाने हैं। सात हजार करोड़ के इस डिफेंस मैन्युफेक्चरिंग पार्क में बुलेट प्रूफ जैकेट, सेना के टैंकों के उपकरण एवं सेना के अन्य उपकरण तैयार किए जाएंगे। प्रदेश में बनने बाले डिफेंस मैन्युफेक्चरिंग पार्क में करीब 2000 लोगों को रोजगार भी मिलेगा।

 

दूसरी ओर कंपनी ने प्रदेश सरकार से सस्ती भूमि उपलब्ध करवाने और सस्ती बिजली, पानी की सुविधा एवं जीएसटी सहित अन्य रियायतें देने की मांग की है। डिफेंस मैन्युफेक्चरिंग पार्क के लिए भूमि का हस्तांतरण का काम बाकी है। भूमि हस्तांतरित होने के बाद नालागढ़ में डिफेंस मैन्युफेक्चरिंग पार्क का निर्माण कार्य शुरू हो सकता है।

विशेष कस्टमाइज्ड पैकेज देने की मांग

 

एसएमपीपी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी द्वारा इस 7000 करोड़ के डिफेंस मैन्युफेक्चरिंग पार्क निर्माण किया जाएगा। हालांकि कंपनी ने प्रदेश सरकार से नालागढ़ में प्रस्तावित डिफेंस मैन्युफेक्चरिंग पार्क के लिए विशेष कस्टमाइज्ड पैकेज देने की मांग की है। वहीं डिफेंस मैन्युफेक्चरिंग पार्क में करीब 2000 लोगों को रोजगार भी मिलेगा।

Himachal Upchunav : उपचुनावों में कौन किस पर भारी, कल होगा तय, पोलिंग पार्टियां तैनात

High Court : प्रदेश सरकार से मांगा प्राइमरी और मिडल स्कूलों का ब्योरा

Follow Facebook Page

error: Content is protected !!