मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि राज्य में कोरोना कर्फ्यू हमेशा नहीं रह सकता तथा हालात सुधरने पर रियायतें दी जाएंगी। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में मृत्यु दर के जो आंकड़े आ रहे हैं, वह चिंताजनक हैं।

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के हिसाब से यह आंकड़े सही नहीं हैं, जिसके लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में बीते 2 सप्ताह के दौरान एक्टिव केस 40 हजार से घटकर 20 हजार तक पहुंच गए हैं।

पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध करवाने का प्रयास करेगी सरकार

सचिवालय में पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार यह प्रयास करेगी कि जून माह में 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध करवाई जाए। उन्होंने कहा कि राज्य में कोरोना टैस्टिंग को बढ़ाए जाने के लिए भी निर्देश जारी किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आर्थिक गतिविधियों को शुरू करने एवं दुकानों को चरणबद्ध तरीके से खोलने पर विचार होगा।

स्पूतनिक व अन्य वैक्सीन उत्पादन में देंगे हरसंभव सहयोग

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में स्पूतनिक व अन्य कोरोना वैक्सीन के उत्पादन के लिए हरसंभव सहयोग दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में एक कंपनी ने स्पूतनिक वैक्सीन का उत्पादन करने के लिए हामी भरी है।

29 मई को हो सकती है उच्च स्तरीय बैठक

राज्य में कोरोना कफ्र्यू को रियायत देने के लिए 29 मई को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की उच्च अधिकारियों के साथ बैठक हो सकती है। इसमें प्रदेश में चरणबद्ध तरीके से रियायतें देने संबंधी विषय पर चर्चा होगी। हालांकि अभी तक आधिकारिक स्तर पर इस बैठक के आयोजन की पुष्टि नहीं हुई है।

102-year-old woman from Kinnaur beats Corona, doctor coming to the hospital gate herself

 

error: Content is protected !!