Cm helpline 1100: सीएम ने तलब किए अधिकारी, मुख्यमंत्री हेल्पलाइन में कितनी शिकायतें मिलीं; कितने का हुआ निपटारा खंगाला जाएगा रिकॉर्ड

Cm helpline 1100: प्रदेश में चल रही मुख्यमंत्री हेल्पलाइन में कितनी शिकायतें अब तक हो चुकी हैं और कितनों का निपटारा किया गया है, इसका पूरा रिकॉर्ड खंगाला जाएगा। मुख्यमंत्री इसकी समीक्षा करने जा रहे हैं, जिन्होंने मंगलवार को अधिकारियों को तलब किया है।

Cm helpline 1100
Cm helpline 1100

अधिकारी बताएंगे कि किस तरह की शिकायतें इस हेल्पलाइन में हुई हैं और कैसे यह लोगों के लिए मददगार साबित हो रही है। मुख्यमंत्री की यह दूसरी समीक्षा बैठक होगी। इस बैठक में अधिकारियों को प्राप्त शिकायतों के निवारण को लेकर किए गए कार्यों की प्रोग्रेस रिपोर्ट के साथ आने को कहा गया है।

Cm helpline 1100
Cm helpline 1100

सीएम हेल्पलाइन सेवा सरकार की काफी महत्त्वपूर्ण योजना है। इसके माध्यम से सरकार लोगों की शिकायतों का घर बैठे निवारण करवा रही है।

इस योजना पर अधिकारी किस तरह से काम कर रहे हैं यह जानने के लिए मुख्यमंत्री मंगलवार को अधिकारियों के साथ बैठक कर इसकी प्रोग्रेस को देखेंगे।

Cm helpline 1100
Cm helpline 1100

सीएम हेल्पलाइन की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री लोगों से सीधे जुड़े महकमों के कार्यों को लेकर लोगों की प्राप्त शिकायतों की समीक्षा करेंगे। इसमें लोक निर्माण विभाग, जल शक्ति, बिजली, शिक्षा, स्वास्थ्य, राजस्व, बागबानी और कृषि, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग शामिल हैं, जो लोगों से सीधे जुड़े हुए।

इन विभागों में से किसकी सबसे ज्यादा शिकायतें प्राप्त हुई हैं और उन शिकायतों का स्टेटस क्या है, यह अधिकारियों से नहीं, बल्कि मुख्यमंत्री खुद लोगों को फोन करके उनसे पूछेंगे। इस बैठक को काफी महत्त्वपूर्ण माना जा रहा है। इसी के माध्यम से सरकार फील्ड में हो रहे कार्यों की भी फीडबैक लेगी।

जनमंच न होने से प्रदेश में मुख्यमंत्री सीएम हेल्पलाइन के माध्यम से ही लोग अपनी शिकायतों और समस्याओं को सरकार तक पहुंचा पा रही है। ऐसे में लोगों की शिकायतों या समस्याओं को हल्के लेने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने के संकेत जारी कर चुके हैं।

बिना समाधान डिलीट क्यों की शिकायत

Cm helpline 1100

मुख्यमंत्री ने इससे पहले की समीक्षा बैठक में भी बिना समाधान के शिकायत को डिलीट किए जाने पर अधिकारियों की जवाबदेही सुनिश्चित की है। समीक्षा बैठक में कोरोना के खिलाफ चल रही जंग को लेकर व्यवस्थाओं पर बातचीत होगी, क्योंकि इसमें लोगों को शिकायत करने को कहा गया था, वहीं संक्रमितों से फीडबैक भी इसके माध्यम से लिया गया है।

DRDO Recruitment : अप्रेंटिस के पदों पर भर्तियां, न कोई परीक्षा न इंटरव्यू, मेरिट से ही होगा चयन

कार में अकेले के लिए मास्क पहनना अनिवार्य नहीं, मंत्रालय ने हाईकोर्ट से कहा

Join facebook page

Leave a Reply

Top