Catastrophe : दुनिया के पास बचा अब सिर्फ दस हफ्ते का गेहूं,

यूरोप की ‘रोटी की टोकरी कहे जाने वाले यूक्रेन पर रूस के हमले से खाद्यान सप्लाई को लेकर हालात भयानक होते जा रहे हैं। इस महासंकट पर संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी है कि दुनिया के पास मात्र 10 सप्ताह यानी 70 दिन का ही गेहूं शेष बचा है। यह साल 2008 के बाद अपने सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया है।


संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि दुनिया में खाद्यान का ऐसा संकट ‘एक पीढ़ी में एक ही बार होता है। इस बीच अब दुनिया की निगाहे जापान में होने जा रहे क्वॉड देशों की बैठक पर टिक गई है, जहां गेहूं संकट का मुद्दा प्रमुखता से उठ सकता है।

बताया जा रहा है कि अमरीकी राष्ट्रपति क्वॉड की जापान में हो रही बैठक में गेहूं के निर्यात के मुद्दे को पीएम मोदी से उठा सकते हैं। अमरीका ने कहा है कि क्वॉड बैठक में गेहूं संकट पर चर्चा होगी। बाइडन पीएम मोदी से गेहूं के निर्यात पर बैन हटाने के लिए गुहार लगा सकते हैं। भारत के गेहूं के निर्यात पर बैन से अमरीका समेत यूरोपीय देश टेंशन में आ गए हैं। अमरीका और यूरोपीय देशों के टेंशन की वजह भी है।

Catastrophe
Catastrophe

गो इंटेलिजेंस की रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में अब मात्र 10 सप्ताह तक ही गेहूं की सप्लाई का स्टॉक बचा है। दरअसल, रूस और यूक्रेन दुनिया के एक चौथाई गेहूं की आपूर्ति करते हैं और पश्चिमी देशों को डर है कि पुतिन गेहूं को एक हथियार के रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं। रूस में इस साल गेहूं की फसल शानदार हुई है और पुतिन इसे नियंत्रित कर सकते हैं।


वहीं खराब मौसम की वजह से यूरोप और अमरीका में गेहूं की फसल को नुकसान पहुंचा है। गो इंटेलिजेंस की मुख्य कार्यकारी अधिकारी सारा मेनकर ने चेतावनी दी कि खाद्यान की सप्लाई कई असाधारण चुनौतियों से जूझ रही है। इसमें फर्टिलाइजर की कमी, जलवायु परिवर्तन और खाद्यान तेल तथा अनाज का रिकार्ड कम भंडार इसकी वजह है।

भोजन को हथियार के रूप में इस्तेमाल कर रहा रूस.

अमरीकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने रूस पर भोजन को हथियार के रूप में इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है। ब्लिंकन ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को भी संबोधित करते हुए कहा कि रूस न केवल यूक्रेनियन के लिए बल्कि दुनिया भर में लाखों लोगों के लिए भोजन को बंधक बना रहा है।

Catastrophe
Catastrophe

ब्लिंकन ने कहा कि कि रूसी सरकार को लगता है कि हथियार के रूप में भोजन का उपयोग करने से उसे वह हासिल करने में मदद मिलेगी, जो उसे आक्रमण से हासिल नहीं हो पाया है और रूस की सरकार यूक्रेनी लोगों की भावना को तोडऩे के लिए ऐसा काम कर रही है।

Quad Group : अब समुद्र में चीन की हर गतिविधि पर रहेगी नजर, ट्रैक होगी ड्रैगन की हर हलचल

error: Content is protected !!