पॉजिटिव मरीजों और बाहर से आए लोगों के घरों के बाहर लगाए जाएंगे बोर्ड

नवनिर्वाचित धर्मशाला नगर निगम कार्यकारिणी की पहली बैठक का आयोजन सोमवार को ऑनलाईन के माध्यम से आयोजित की गई। बैठक में कोविड-19 की उपजी स्थिति से निपटने को लेकर विशेष रूप से चर्चा की गई। इसमें धर्मशाला निगम क्षेत्र में कोविड-19 पॉजिटिव मरीजों के घर के बाहर रैड बोर्ड जबकि बाहरी राज्यों से आए लोगों के घरों के बाहर ओरेंज बोर्ड लगाने को लेकर प्रस्ताव रखा गया जिस पर चर्चा की गई तथा इसको लेकर सहमति जताई।

वहीं निगम क्षेत्र में पॉजिटिव मरीजों को दवाईयों की किट पहुंचाने के लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की सेवाएं लेने को चर्चा की गई। मेयर ओंकार नैहरिया की तरफ से सुुझाव दिया गया कि कोविड काल में कर्मचारियों की किसी तरह की कमी न आए, उसके लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की सेवाएं ली जानी चाहिए। सब पार्षदों ने इस सुझाव पर सहमति व्यक्त करते हुए संबंधित विभाग को इसको लेकर जल्द फैसला लेने का सुझाव दिया है।

इस दौरान पार्षदों द्वारा अपने वेतन को कोविड फंड में प्रदेश सरकार को देने की भी चर्चा की गई। बैठक के दौरान निगम क्षेत्र में शवों को ले जाने के लिए शव वाहन खरीदने को लेकर प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की गई।

नगर निगम आयुक्त प्रदीप ठाकुर ने बैठक में पहला ऐजेंडा कोविड से निपटने का पेश किया। इस पर सभी पार्षदों ने अपने सुझाव पेश किए। पूर्व मेयर देवेंद्र जग्गी ने कहा कि गंभीर हुए कोरोना की चेन तोड़ने के लिए सब्जी मंडी, रेन शेल्टर, बाजारों और अन्य भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों को लगातार सैनेटाइज करने की जरूरत है। इसके लिए एक विशेष टीम गठित की जानी चाहिए जो रोजाना इन भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों को रोजाना सेनेटाइज करेें।

इस पर सभी पार्षदों ने सहमति जताई। कुछ पार्षदों ने अपने-अपने वार्ड में पुराने कामों के लंबे समय से लटके होने का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि जब नगर निगम क्षेत्र के पुराने काम की पूरे नहीं हो पाएंगे, तो नए कामों को कब शुरू किया जाएगा। वहीं इस बैठक में निगम के एक कर्मचारी को नियमित करने का प्रस्ताव भी पेश किया गया।

साथ ही पर्यटन नगरी में पर्यटकों की आवाजाही वाले क्षेत्रों में कोविड-19 से निपटने के लिए पर्यटन विभाग का सहयोग लेने के प्रस्ताव पर भी चर्चा की गई। इस बैठक में मेयर ओंकार नैहरिया, डिप्टी मेयर सर्व चंद गलोटिया, नगर निगम आयुक्त प्रदीप ठाकुर नगर निगम कार्यालय से बैठक में जुड़े, जबकि अन्य पार्षद ऑनलाइन माध्यम से बैठक में जुड़े।

Leave a Reply

Top