Bjp Core Group Meeting: भाजपा में बड़े बदलाव की तैयारी, बैठक में चुनावी हार का पोस्टमार्टम

हिमाचल भाजपा कोर ग्रुप की बैठक भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप की अध्यक्षता में शिमला के पीटरहॉफ में बुधवार शाम को हुई। करीब पांच घंटे चली इस बैठक में जिस तरह से चर्चा हुई है, उससे लग रहा है कि भाजपा में आने वाले दिनों में बडे़ बदलाव हो सकते हैं। इस बैठक में पहले दिन राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सौदान सिंह नहीं आए हैं। उनके दूसरे दिन गुरुवार को आने की संभावना है।

 

प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना, सह प्रभारी संजय टंडन, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल, भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सत्ती, डा.राजीव बिंदल, प्रदेश संगठन महामंत्री पवन राणा, महामंत्री त्रिलोक जम्वाल, राकेश जम्वाल, त्रिलोक कपूर एवं प्रदेश सरकार में स्वास्थ्य मंत्री डा. राजीव सैजल बैठक में शामिल हुए। हिमाचल भाजपा प्रभारी अविनाश राय खन्ना ने दो चरणों में ये बैठक की।

 

पहली बैठक में केवल मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के साथ चर्चा की गई। इसमें प्रदेश अध्यक्ष और संगठन महामंत्री भी थे। इस बैठक में महामंत्रियों को भी शामिल नहीं किया गया था। इसके बाद फिर कोर गु्रप का मंथन शुरू हुआ, जिसमें सभी महामंत्री और पूर्व सीएम धूमल भी शामिल थे।

 

कोर ग्रुप ने फेसबुक के जरिए दिए गए इस्तीफों पर चर्चा करने से इनकार कर दिया और कहा गया कि जब तक ये इस्तीफे फिजिकल रूप से नहीं मिलते, इन पर कोई फैसला नहीं होगा।

 अंदेशा शायद यह है कि ये इस्तीफे दबाव बनाने के लिए दिए जा रहे हैं। कोर ग्रुप में फिर हार की रिपोर्ट भी रखी गई। इस हार की रिपोर्ट में सभी चारों सीटों से आए फीडबैक की फाइल पर चर्चा हुई। मिशन 2022 से पहले भाजपा के संगठन को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए कुछ निर्देश कोर गु्रप में दिए गए हैं। इसलिए आने वाले दिनों में इसका असर भी दिखेगा।

 

माना जा रहा है कि उपाध्यक्षों, महामंत्रियों और सचिवों के दायित्वों में बदलाव हो सकता है। उधर, उपचुनाव की चारों सीटों पर प्रभारी रहे कैबिनेट मंत्रियों को गुरुवार की बैठक में तलब किया गया है। इन्हें गुरुवार सुबह ही बैठक में शामिल होना होगा। पीटरहाफ में ही यह बैठक विस्तारित कोर गु्रप की होगी। इसके बाद प्रदेश पदाधिकारी बैठक में भी गुरुवार को ही है। शुक्रवार को सुबह से शाम तक प्रदेश कार्यसमिति की बैठक होगी। इसमें कोर गु्रप के कुछ फैसलों पर आगामी रणनीति के रूप में लागू किया जाएगा। 

Author: बोलता हिमाचल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *