बढ़ते कोरोना के बीच केंद्र ने हिमाचल सरकार से वापस मांगे 250 वेंटिलेटर

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच केंद्र ने हिमाचल प्रदेश सरकार से 250 वेंटिलेटर वापस मांग लिए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से प्रदेश सरकार को इसके बारे में मेल जारी की गई है।

कहा गया है कि इन वेंटिलेटर को अस्पतालों में इस्तेमाल न किया जाए। गौर हो कि कोरोना के चलते केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने हिमाचल प्रदेश को अब तक 750 वेंटिलेटर दिए हैं। केंद्र ने प्रदेश सरकार से 250 वेंटिलेटर इस्तेमाल न करने को कहा है।

केंद्र से मेल आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने 250 वेंटिलेटर पैक कर स्टोर में रख दिए हैं। आगामी आदेश तक इन्हें अपने पास सुरक्षित रख लिया है। विभाग की माने तो प्रदेश में जिस तरह कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं और अस्पतालों में गंभीर मरीजों का आना जारी है, इसके चलते वेंटिलेटर की कमी आ सकती है।

सूत्र बताते है कि दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात जैसे राज्यों में कोरोना ने विकराल रूप धारण कर रखा है। ऐसे में इन वेंटिलेटर को इन राज्यों में भेजा जा सकता है। सूत्र यह भी बता रहे हैं कि ये वेंटिलेटर कम क्षमता के हैं।

सरकार ने सभी जिला अस्पताल प्रशासनों से पूछी थी जरूरत

प्रदेश सरकार को यह वेंटिलेटर दो महीने पहले आए थे। 750 में से 500 वेंटिलेटर मेडिकल कालेजों और जोनल अस्पतालों में लगा दिए हैं, जबकि अन्य वेंटिलेटर को लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने जिला अस्पताल प्रशासन से जरूरत पूछी थी। अब उन्हें वेंटिलेटर मिलने की संभावना नहीं लग रही है।

चार छात्राओं में नए यूके स्ट्रेन के मामले

हिमाचल प्रदेश के जिला सिरमौर नर्सिंग कालेज में चार छात्राओं में यूके के नए कोरोना स्ट्रेन की पुष्टि हुई है। ये सभी छात्राएं ठीक हो गई हैं। इनमें बीमारी के लक्षण नहीं है। पुणे से 40 कोरोना पॉजिटिव लोगों की रिपोर्ट आई है

Author: बोलता हिमाचल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *