बद्दी में 135 कंपनियों ने डकार लिए बिजली बोर्ड के करोड़ों रुपये

(बोलता हिमाचल) : औद्योगिक क्षेत्र बद्दी के तहत विद्युत बोर्ड के उद्यमियों के पास करोड़ों रुपये की लेनदारी फंसी हुई है। बोर्ड को 135 कंपनियों से 6 करोड़ 5 लाख 54 हजार 177 रुपये की राशि वसूल करनी है।

हिमाचल बिजली बोर्ड

छोटे-बड़े उद्यमियों के पास 590 से लेकर 74 लाख रुपये तक के बिल फंसे हुए हैं। वहीं, बिजली बोर्ड इनके आगे बेबस नजर आ रहा है।

खास बात यह है कि जिनसे बिल वसूल करना है उन्हें कई बार नोटिस भेजा गया पर अब अधिकांश यूनिटों पर ताले लग चुके हैं या उनके प्रोमोटर गायब हैं। आरटीआई में मिली जानकारी के मुताबिक अंकुर ड्रग फार्मा बद्दी का 74 लाख 39 हजार 836 रुपये, गरीबनवाज पॉलीमर 59 लाख 26 हजार 921, हिमालय फाइबर 50 लाख 02 हजार 739, भंडारी दीपक 38 लाख 68 हजार 893, जीएन पैट ठाना 35 लाख 30 हजार 355 , नैक्सट स्टार डिजिटल प्लॉट नंबर 24 बद्दी 32 लाख 89 हजार 707,

बिजली बोर्ड

बालाजी पॉलीटेक्स इंडस्ट्री प्लॉट नंबर 38 एचपीआइसी आइएनडी एरिया 26 लाख 27 हजार 079, नसाका 22 लाख 54 हजार 035, डन फूड प्रा. लिमिटेड 18 लाख 78 हजार 581 जैम बैटरी प्राइवेट लिमिटेड गांव जुडीकलां 13 लाख 62 हजार 886 और पेरनेटनरल ड्रग्स का 10 लाख 37 हजार 250 रुपये का बिजली बिल बकाया है।

कोरोना के कारण कई कंपनियों का काम कम हो गया है। हालांकि ये लोग समय-समय पर बिल जमा करवाते रहते हैं। कई कंपनियां कनेक्शन काटने के तुरंत बाद बिल जमा करवा देती हैं।

 

लंबित राशि में बहुत से उद्यमियों ने बिल जमा करवा भी दिया है। इस राशि को चरणबद्ध तरीके से वसूलने के लिए रिकवरी टीम कार्य करती रहती है। – रोबिन बैंसल, बिजली बोर्ड के अधिशाषी अभियंता

जहां जमानत भी नहीं बचती थी, वहां से पांचवीं बार विधायक बना: जयराम ठाकुर

Himachal Jairam Govt : जयराम सरकार आज पूरा करेगी 3 साल का सफर, वर्चुअल होगा कार्यक्रम

Leave a Reply

Top