Himachal : सरकारी वाहनों को कंडम घोषित करने की अवधि बढ़ी

Himachal news : हिमाचल में कोरोना काल में गाड़ियों को कंडम घोषित करने की अवधि बढ़ा दी गई है। सरकारी विभागों, निगमों, बोर्डों और अन्य संस्थाओं में इससे गाड़ियों का खर्च घटेगा। इसमें अब नई तकनीक की गाड़ियां होने का भी हवाला दिया गया है।

गाड़ियों को कंडम घोषित करने के नए निर्देश जारी किए हैं।अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त प्रबोध सक्सेना ने सभी प्रशासनिक सचिवों को इस संबंध में निर्देश जारी किए हैं।

Himachal
Himachal news

इसके दायरे में मंत्रियों, अफसरों, सरकारी वाहनों आदि समेत तमाम तरह की सरकारी गाड़ियां शामिल की गई हैं। इन निर्देशों के अनुसार वाहनों को कंडम करने का क्राइटेरिया बदला जा रहा है। सभी तरह की कारें इससे पहले दो लाख किलोमीटर और आठ साल की अवधि के पूरा होने पर कंडम की जाती थी। अब ये ढाई साल लाख किलोमीटर का सफर और दस साल की अवधि पर ही कंडम होंगी।

सभी तरह की जीपें पहले 2.40 लाख किमी चलने और आठ साल की अवधि पूरा होने पर कंडम की जाती थीं। अब तीन लाख किमी और 10 साल का समय तय किया गया है। हेवी मोटर व्हीकल में जेसीबी को पहले सेवा के दस हजार घंटे पूरे करने के बाद कंडम किया जाता था। अब यह दस हजार घंटे या 15 साल की अवधि पूरा होने पर ही कंडम की जा सकेगी। बुल्डोजर या क्रेन के लिए यह अवधि 9 हजार घंटे की या 15 साल थी। इसे अब 10 हजार घंटे या 15 वर्ष किया गया है।

Himachal

ट्रकों और टैंकरों के लिए यह अवधि तय नहीं थी। इसे यह सामान्य क्षेत्रों के लिए तीन लाख किमी और 15 साल किया गया है। जनजातीय आए दुर्गम क्षेत्रों के लिए इसे ढाई लाख किमी या 12 साल किया गया है। बसों के लिए पहले यह साढ़े आठ लाख किमी और नौ साल का समय तय था।

इसे सामान्य क्षेत्रों के लिए छह लाख किमी और पंद्रह साल किया गया है। जनजातीय और दुर्गम इलाकों के लिए इसे पांच लाख किमी और 12 साल किया गया है। एचआरटीसी इस पर अपनी बीओडी में खुद निर्णय लेगा।

Himachal Bulk Drug Parks : केंद्र के पास 14 अक्तूबर को बल्क ड्रग पार्कों के प्रस्ताव भेजेगा हिमाचल.

Join facebook page

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *