Conductor bharti 2020 : परीक्षा नहीं होगी रद्द, गलत प्रश्न के दिए जाएंगे ग्रेस मार्क

Conductor bharti 2020 : परीक्षा नहीं होगी रद्द, गलत प्रश्न के दिए जाएंगे ग्रेस मार्क

Conductor Bharti 2020 हिमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) की कंडक्टर भर्ती परीक्षा भले ही विवादों में है लेकिन इसे रद्द नहीं किया जाएगा। गलत सवाल पूछने का भी प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग ग्रेस मार्क (कृपांक) देगा। यह फैसला आयोग की बैठक में लिया गया है।  दूसरी ओर, आयोग ने पुलिस थाना शाहपुर में मनोज कुमार (26), गांव वोहरका डाकघर भाली तहसील जवाली जिला कांगड़ा के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है।

आरोप है कि परीक्षा केंद्र हाईट कॉलेज छतड़ी (शाहपुर) में मनोज ने अपने मोबाइल से प्रश्नपत्र को सोशल मीडिया पर वायरल किया है। पुलिस आरोपी की गिरफ्तारी को रात-दिन छापामारी कर रही है लेकिन वह गिरफ्त से बाहर है। उल्लेखनीय है कि रविवार को शिमला के एपी गोयल विवि सेंटर से भी एक आरोपी फरार हो गया था, लेकिन उसे रात 8:00 बजे रोहड़ू से गिरफ्तार कर लिया गया था।

Counductor Bharti 2020

प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन ब्रिगेडियर सतीश शर्मा ने बताया कि परीक्षा में 71 फीसदी अभ्यर्थियों (48,000) ने अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई है। प्रदेश के बेरोजगारों के भविष्य को देखते हुए इस परीक्षा को रद्द नहीं किया जा सकता। 304 परीक्षा केंद्रों में से महज 2 परीक्षा केंद्रों में ही मोबाइल फोन के प्रयोग के मामले सामने आए हैं। गलत प्रश्न के लिए अभ्यर्थियों को कृपांक दिए जाएंगे। इसके लिए अभ्यर्थी 7 दिन के भीतर आयोग को अपनी आपत्तियां भेज सकते हैं।

सोशल मीडिया पर उड़ता रहा मजाक

उधर, कंडक्टर भर्ती पर सोमवार को सोशल मीडिया पर सरकार की खूब फजीहत हुई। परिवहन मंत्री को लेकर पूछे गए सवाल पर खूब मजाक उड़ता रहा। आम लोगों के अलावा विपक्षी कांग्रेस को भी सरकार को घेरने का मौका मिल गया।

शिमला ग्रामीण के कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह ने अमर उजाला की खबर को अपने फेसबुक पेज पर शेयर कर सरकार पर खूब तंज कसे। कांग्रेस ने भी इसे अपने फेसबुक पेज पर शेयर किया। इसमें ‘मजाक बन गई कंडक्टर भर्ती परीक्षा’ और ‘शिखर की ओर हिमाचल का नारा सिर्फ पोस्टर’ लिखा गया।

हिमाचल सरकार में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, चंबा-शिमला समेत सात जिलों के डीसी बदले

Facebook

Himachal News