CURRENT AFFAIRS GENERAL KNOWLEDGE

Shaurya Chakra: इतिहास, पात्रता, डिजाइन और प्राप्तकर्ता

Shaurya Chakra: शौर्य चक्र एक भारतीय सैन्य अलंकरण है जो शांति काल में सर्वोच्च सेवा और बलिदान के लिए दिया जाता है.

वीरता पुरस्कारों को भारत सरकार द्वारा सशस्त्र बलों के अधिकारियों / कर्मियों के साहस और आत्म-बलिदान के कार्य के लिए और इसके साथ अन्य विधिपूर्वक गठित बलों और सिविलियन्स को सम्मानित करने के लिए स्थापित किया गया है. इन वीरता पुरस्कारों की घोषणा एक वर्ष में दो बार की जाती है; पहला गणतंत्र दिवस के अवसर पर और दूसरा स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर.

 

शौर्य चक्र के बारे में विस्तार से अध्ययन करने से पहले, आइए हम अन्य वीरता पुरस्कारों के बारे में भी जानते हैं

 

स्वतंत्रता के बाद, भारत सरकार द्वारा प्रथम तीन वीरता पुरस्कार अर्थात परम वीर चक्र, महावीर चक्र और वीर चक्र 26 जनवरी, 1950 को प्रारंभ किए गए थे, जिन्हें 15 अगस्त, 1947 से प्रभावी माना गया था.

इसके बाद, 4 जनवरी, 1952 को भारत सरकार द्वारा अन्य तीन वीरता पुरस्कार यानी अशोक चक्र श्रेणी-I, अशोक चक्र श्रेणी-II और अशोक चक्र श्रेणी-III प्रारंभ किए गए थे. इन्हें 15 अगस्त, 1947 से प्रभावी माना गया था. साथ ही आपको बता दें जनवरी, 1967 में इन पुरस्कारों को क्रमशः अशोक चक्र, कीर्ति चक्र और शौर्य चक्र के रूप में पुनः नाम दिया गया था.

 

Shaurya Chakra
Shaurya Chakra

 

इन पुरस्कारों का वरीयता क्रम है: परमवीर चक्र, अशोक चक्र, महावीर चक्र, कीर्ति चक्र, वीर चक्र और शौर्य चक्र.

शौर्य चक्र: इतिहास (History)

4 जनवरी, 1952 को भारत सरकार द्वारा अशोक चक्र श्रेणी-III प्रारंभ किया गया था और 15 अगस्त, 1947 से प्रभावी माना गया था.  27 जनवरी, 1967 को, अशोक चक्र श्रेणी-III को शौर्य चक्र का नाम दिया गया.

शौर्य चक्र: पात्रता (Eligibility)

कार्मिक निम्नलिखित श्रेणियां शौर्य चक्र के लिए पात्र होंगे:

1. सेना, नौसेना और वायु सेना, किसी भी रिजर्व सेना, प्रादेद्गिाक सेना, नागरिक सेना (Militia) और कानूनी रूप से गठित अन्य सद्गास्त्र सेना के सभी रैंकों के अफसर और पुरूषा व महिला सैनिक.

2. सशस्त्र सेनाओं की नर्सिंग सेवाओं के सदस्य.

3. समाज के प्रत्येक क्षेत्र के सभी लिंगों के सिविलियन नागरिक और पुलिस फोर्स, केन्द्रीय पैरा-मिलिट्री फोर्स और रेलवे सुरक्षा फोर्स के कार्मिक.

शौर्य चक्र यह सम्मान सैनिकों और असैनिकों को असाधारण वीरता या प्रकट शूरता या बलिदान के लिए दिया जाता है. यह मरणोपरान्त भी दिया जा सकता है.

Shaurya Chakra
General knowledge

शौर्य चक्र: डिजाइन (Design)

शौर्य चक्र पुरस्कार में मेडल (पदक), रिबन और बार शामिल हैं. विवरण नीचे दिया गया है:

1. मेडल (पदक): यह आकार में गोलाकार है और कांस्य से बना है. इसका व्यास 1.38 इंच का है.

2. अग्र भाग (पदक के सामने का हिस्सा): इस मेडल के अग्र भाग पर या सामने के हिस्से पर केंद्र भाग में अशोक चक्र की प्रतिकृति उत्कीर्ण है या अशोक चक्र बना हुआ है जिसके चारों ओर कमल के फूलों की बेल बनी हुई है.

 

3. पश्च भाग (पदक के पीछे वाला हिस्सा): इसके पश्च भाग या पीछे वाले हिस्से पर हिंदी और अंग्रेजी में शौर्य चक्र उत्कीर्ण है, ये रूपान्तरण कमल के दो फूलों द्वारा अलग-अलग हो रहे हैं.

4. रिबन (फीता) : इसका फीता हरे रंग का होता है जिस पर तीन सीधी रेखाएं बनी होती हैं और ये रेखाएं फीते को चार बराबर हिस्सों में विभाजित करती हैं.

5. बार: यदि शौर्य चक्र का कोई भी प्राप्तकर्ता फिर से वीरता का ऐसा कार्य करता है जिसके कारण वह चक्र प्राप्त करने का पात्र हो जाता है बहादुरी के इस कारनामे को सम्मानित करने के लिए चक्र जिस फीते से लटका होता है, उसके साथ एक बार लगा दिया जाता है. साथ ही आपको बता दें कि यदि केवल फीता पहनना हो तो यह पदक जितनी बार प्रदान किया जाता है, उतनी बार के लिए फीते के साथ इसकी लघु प्रतिकृति लगाई जाती है.

 

[metaslider id=58]

शौर्य चक्र: प्राप्तकर्ता (Recipients)

1. MAJ PS GAHOON
2. 2/LT M THULASIRAM
3. SUB KARTAR SINGH, MC
4. JEM SAMANDAR SINGH
5. L/NK MILKHA SINGH
6. L/NK BISHAN SINGH
7. SEP SHANKAR DASS
8. LT-COL R.A SHEBBEARE
9. MAJ S.L MENEZES
10. MAJ A.T. STEPHENSON
11. SUB MAJ DHAN SINGH
12. HAV NARANJAN SINGH
13. L/DFR SULTAN SINGH
14. RFMN BAKHTAWAR SINGH BHANDARI
15. SEP HARCHAND SINGH
16. SEP RICHHPAL SINGH
17. SEP RAM SINGH
18. LAXMAN, TOPASS
19. RFMN TIL BAHADUR GURUNG
20. BABOO LAL

 

21. SUB TEK BAHADUR SAHI
22. SEP THAKUR SINGH
23. LALITA MUKAND
24. TUKARAM GOVIND CHOUGULE
25. ANANT SHRIDHAR KARNIK
26. JAGDISH CHANDRA PATHAK
27. MOHAN SHANTARAM PATKAR
28. J J PIMENTA
29. JEM KULBIR THAPA
30. HAV S S BHANDARI
31. RFN GANESH BAHADUR TAMANG
32. MUTHU KRISHNAN, PO
33. AKSHYA KUMAR SINGH
34. MUTTHU KRISHNA, PO
35. SCOUT CHATRA RAM
36. SCOUT TARA CHAND
37. SCOUT SAUDAGAR SINGH
38. CAPT GURBACHAN SINGH GREWAL
39. SUB KHEM CHAND
40. SUB MEGH SINGH

 

41. JEM RABE GURUNG, MC
42. HAV TEK BAHADUR GURUNG
43. L/HAV BALWANT SINGH
44. NK RAGHUNATH DANGE
45. SEP HANS RAJ
46. SEP NARBIR SINGH
47. SEP SHANKAR HEMBROM
48. WING COMMANDER BRIAN JOSEPH CANNEL
49. HAV MURLI RAM
50. SEP JANAK SINGH
51. SUB MOHAR SINGH
52. JEM MOHINDER SINGH
53. JEM TEK BAHADUR GURUNG
54. NK SUGRIV SINGH
55. NK PADAM SINGH GURUNG
56. SEP MEWA SINGH
57. SEP RANJIT SINGH
58. L/NK GANGA PRASAD THAPA
59. RFN PURNA BAHADUR RANA
60. RFN JOGESHWAR KUWAR

Hp govt jobs 

HP NEWS TOP TRENDING NEWS HIMACHAL | 25 JULY 2020

Facebook

2 Replies to “Shaurya Chakra: इतिहास, पात्रता, डिजाइन और प्राप्तकर्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *